लॉकडाउन: 3 महीने मां से दूर रहा 5 साल का बच्चा, दिल्ली से बेंगलुरु फ्लाइट में अकेले आया

लॉकडाउन: 3 महीने मां से दूर रहा 5 साल का बच्चा, दिल्ली से बेंगलुरु फ्लाइट में अकेले आया

देश में कोरोना वायरस के कहर को कम करने के लिए पिछले दो महीने से लॉकडाउन लागू है। इसके बाद सोमवार यानी आज से आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर देश के सभी हिस्सों में फ्लाइट का संचालन शुरू हो गया है। महीनों से घर से दूर कहीं और फंसे कई लोग डरते-घबराते फ्लाइट पकड़ने एयरपोर्ट पहुंचे। कोरोना वायरस लॉकडाउन में एक 5 साल के बच्चे को न सिर्फ तीन महीने अपनी मां से अलग रहना पड़ा, बल्कि उनके पास वापस आना भी उसके लिए आसान नहीं रहा। बच्चा दिल्ली से कर्नाटक की फ्लाइट में बैठकर अकेले गया।

दरअसल, बेंगलुरु में भी सोमवार सुबह देश के अलग-अलग हिस्सों से आई फ्लाइट लैंड हुईं। इस दौरान एक पांच साल का बच्चा विहान दिल्ली से अकेले ही फ्लाइट से आया। विहान की मां के मुताबिक वो तीन महीने से दिल्ली में अपने दादा-दादी के पास था। अब फ्लाइट शुरू होते ही वो अकेले दिल्ली से बेंगलुरु आया। उसे लेने उसकी मां एयरपोर्ट पहुंची। इतने दिनों बाद अपने बेटे को देखकर मां की आंखों से आंसू निकल आए। एयरपोर्ट पर पहुंचने पर फ्लाइट अटेंडेंट ने जब बच्चे को उसकी मां को सौंपा तो मां ने भी पूरी सावधानी बरतते हुए उसे गले नहीं लगाया। घरेलू फ्लाइट सर्विस शुरू होने के बाद कर्नाटक के इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर आज अबतक दो फ्लाइट उतर चुकी हैं। इनमें से एक दिल्ली से आई थी, जिसमें विहान भी आया।


गाइडलाइन को लेकर सख्ती

बता दें कि केंद्र सरकार ने विमान सेवा शुरु करने से पहले गाइडलाइन जारी कर दी थी। इस गाइडलाइन के मुताबिक सभी को मास्क और सैनिटाइजर रखना अनिवार्य है। इसके साथ ही बिना आरोग्य सेतु ऐप के किसी को भी एयरपोर्ट पर एंट्री नहीं मिल रही है। मामले में बेंगलुरु एयरपोर्ट के मैनेजिंग डायरेक्टर हरि मरार ने बताया कि एयरपोर्ट पर सभी गतिविधियां सामान्य तौर पर चल रही हैं। कोशिश यही है कि कोई भी कर्मचारी किसी यात्री के संपर्क में ना आए। इसके अलावा हर जगह को आधे घंटे पर सैनिटाइज किया जा रहा है, ताकि संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके।


हवाई यात्रा की तैयारी कर रहे हैं तो पहले जान लें ये 10 नियम

हवाई अड्डे पर यात्रियों को 2 घंटे पहले पहुंचना होगा : एएआई

सुरक्षित यात्रा के लिए आईजीआई हवाईअड्डे पर किए जा रहे खास इंतजाम


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)