आईपीएल-13 : राजस्थान नहीं कर सकी चमत्कार, दिल्ली ने 13 रनों से हराया (राउंडअप)

  • Follow Newsd Hindi On  

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए मैच में दिल्ली ने शिखर धवन और कप्तान श्रेयर अय्यर के अर्धशतकों के दम पर 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 161 रन बनाए। राजस्थान पूरे ओवर खेलने के बाद 148 रन बना पाई। उसने अपने आठ विकेट खोए।

स्टीव स्मिथ ने टॉस के दौरान ही कह दिया था कि इस मैच में भी बेन स्टोक्स ओपनिंग करेंगे। 162 रनों के लक्ष्य का पीछा करने वह जोस बटलर के साथ पारी की शुरुआत करने आए। दोनों ने 37 रन जोड़े। एनरिक नॉर्खिया ने बटलर (22) को आउट कर दिल्ली को पहला विकेट दिलाया। फिर रविचंद्रन अश्विन ने स्मिथ (1) का कैच अपनी ही गेंद पर पकड़ स्कोर 40/2 कर दिया।


स्टोक्स दूसरे छोर पर थे। वो जब तक थे दिल्ली के लिए सिरदर्द थे। हर एक गेंद के बाद स्टोक्स का खड़ा रहना दिल्ली को सिर्फ दर्द ही दे रहा था। दिल्ली के इस संकट को दूर किया अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे ने। उनकी गेंद पर स्टोक्स सब्स्टीट्यूट ललित यादव के हाथों लपके गए।

संजू सैमसन (25) अक्षर पटेल की फिरकी में फंस गए। अब क्रीज पर थे रॉबिन उथप्पा और रियान पराग। पराग ने पिछले मैच में राहुल तेवतिया के साथ मिलकर टीम को जीत दिलाई थी, लेकिन इस मैच में उथप्पा के साथ हुई गलतफहमी में वो रन आउट हो गए। पराग सिर्फ एक रन ही बना पाए।

तेवतिया को भी पहली ही गेंद पर नॉर्खिया ने जीवनदान दे दिया। 18वें ओवर की तीसरी गेंद पर नॉखिया ने उथप्पा (32) को आउट कर राजस्थान को संकट में डाल दिया, लेकिन तेवतिया अभी थे और उनके साथ थे जोफ्रा आर्चर जो बड़े शॉट्स मार सकते थे। दो ओवरों में राजस्थान को 25 रन चाहिए थे और इन्हें बनाने की काबिलियत इन दोनों बल्लेबाजों में थी। आर्चर को तो कैगिसो रबाडा ने 19वें ओवर की चौथी गेंद पर आउट कर दिया। वो एक रन ही बना पाए।


आखिरी ओवर में राजस्थान को 22 रन बनाने थे, लेकिन तेवतिया विफल रहे। वह 14 रन बनाकर नाबाद लौटे। उनके साथ श्रेयस गोपाल भी छह रन बनाकर नाबाद रहे।

इससे पहले दिल्ली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया।

पृथ्वी शॉ (0) के पहली गेंद पर आउट होने और फिर अजिंक्य रहाणे (2) के जल्दी आउट होने के बाद शिखर धवन (57 रन, 33 गेंद, 6 चौके, 2 छक्के) और श्रेयस अय्यर (53 रन 43 गेंद, 3 चौके, 2 छक्के) ने टीम को संभाला और बड़े स्कोर की नींव रखी। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 85 रनों की साझेदारी की।

लेकिन जैसे ही यह दोनों आउट हुए दिल्ली की विशाल स्कोर की उम्मीदें धूमिल होने लगीं। पचास का आंकड़ा पार करने के बाद धवन को गोपाल ने कार्तिक त्यागी के हाथों शॉर्ट फाइन लेग पर कैच कराया।

त्यागी ने अय्यर को भी अर्धशतक पूरा होने के बाद ज्यादा देर पैर नहीं जमाने दिए।

उम्मीदें मार्कस स्टोयनिस (18) से थीं जो पिछले मैचों में अंत के ओवरों में तेजी से रन बनाते आए हैं, लेकिन इस मैच में आर्चर ने उनकी एक न चलने दी। आर्चर की गेंद पर तेवतिया ने उनका कैच पकड़ा।

एलेक्स कैरी भी विफल रहे। वह सिर्फ 14 रन बना सके। आखिरी के पांच ओवरों में दिल्ली ने चार विकेट तो खोए लेकिन रन सिर्फ 32 रन बनाए और इसलिए वो विशाल स्कोर खड़ा नहीं कर पाई। उसके गेंदबाज हालांकि इस लक्ष्य का बचाव करने में भी सफल रहे।

–आईएएनएस

एकेयू/एसजीके

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)