सुशांत सिंह राजपूत की मौत की ‘शर्मनाक’ कवरेज के लिए ‘आज तक’ को कानूनी नोटिस

  • Follow Newsd Hindi On  
Sushant told Ankita Rhea Chakraborty bothers him

दिल्ली हाईकोर्ट के अधिवक्ता मोहित सिंह ने बॉलीवुड कलाकार, सुशांत सिंह राजपूत की दुखद मौत पर की गई अपमानजनक रिपोर्टिंग के लिए इंडिया टुडे ग्रुप के चेयरमैन और प्रधान संपादक को कानूनी नोटिस भेजा है।

दरअसल, अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की कवरेज के दौरान न्यूज चैनल आजतक ने एक प्रोग्राम दिखाया, जिसमें क्रिकेट मैच के दौरान “हिट-विकेट” के साथ अभिनेता की मौत की तुलना की गई। शो के दौरान यह टिकर टीवी स्क्रीन पर चलता रहा। सोशल मीडिया पर आज तक के इस हेडलाइन के विरोध में कई ट्वीट पोस्ट किए गए।


Aaj tak gets legal notice over hit wicket ticker on Sushant Singh Rajput’s death

आजतक के इस शो से लोगों को ऐसा लगा कि चैनल ने अभिनेता सुशांत की आत्महत्या को क्रिकेट में एक बल्लेबाज के हिट विकेट होने से जोड़ा जाना संवेदनहीन और पत्रकारिता के मानकों खिलाफ है। क्रिकेट के खेल में कोई बल्लेबाज गेंद का सामना करते हुए अपने बल्ले या अपने शरीर के किसी भी हिस्से से अपना विकेट खुद ही हिट करते हुए आउट हो जाता है तो उसे हिट विकेट कहा जाता है। लेकिन, ये खेल तक सही है। किसी की ज़िंदगी और मौत से इसे जोड़ना सरासर बेवकूफी है।

इस तरह की भाषा का लापरवाही से उपयोग यह दर्शाता है कि चैनल जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी को सही से नहीं निभाया है। ऐसी परिस्थितियों में, चैनल द्वारा प्रसारित की गई काल्पनिक, असंपुष्ट खबरें अभिनेता पर सवाल उठाती हैं।

मोहित सिंह सिंह ने नोटिस में आरोप लगाया कि चैनल ने आलोचनात्मक प्रकृति की एक घटना पर लापरवाही से टिप्पणी करने के अलावा, समाचार चैनल ने आत्महत्या के कृत्य को “सामान्यीकृत” भी किया है।

जिन शब्दों का इस्तेमाल किया गया है, उनमें यह बताया है कि आत्महत्या करने का कृत्य कायरता का कार्य है और इसे एक नजर से देखा जाना चाहिए। सार्वजनिक मंच के ऐसा करना, विशेष रूप से जिसे बहुत अधिक संख्या में दर्शक देखते हैं।

ऐसा करना आईपीसी की धारा 500 के तहत मानहानि के अपराध का गठन करता है। सिंह ने चैनल को अपने बयान को वापस लेने औरमानसिक स्थिति के बारे में गलत सूचना को बढ़ावा देने और फैलाने के लिए बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए।

अगर चैनल ऐसा नहीं करता तो इंडिया टुडे ग्रुप के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। नोटिस में कहा गया है कि इस कानूनी नोटिस के द्वारा आपको उपरोक्त कथन को वापस लेने की आवश्यकता है।

इसके साथ ही आपके चैनल पर प्रदर्शित किए गए समान प्रकृति के किसी भी अन्य स्टेटमेंट को हर हाल में वापस लिया जाना चाहिए और आपके अप्रिय कार्य के लिए आपको बिना शर्त सार्वजनिक माफीनामा जारी करना चाहिए।

इस माफीनामे में आप अपने चैनल द्वारा की गई गलती की जिम्मेदारी लें और यह कहें कि आत्महत्या की खबरें पुलिस द्वारा की जाने वाली टिप्पणी मात्र है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।


सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर कंगना रनौत बोलीं- यह सुसाइड नहीं, प्लान्ड मर्डर है

सुशांत सिंह राजपूत को लेकर मुकेश भट्ट का चौंकाने वाला खुलासा, बोले- अंदेशा था परवीन बॉबी की राह पर हैं

VIDEO: 17 साल बाद जब बिहार के अपने पैतृक गांव आए थे सुशांत सिंह राजपूत, ननिहाल जाकर कराया था मुंडन

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)