आजादी मार्च के लिए 6 हजार शौचालय बनाने की अनुमति मांगी

इस्लामाबाद , 26 अक्टूबर (आईएएनएस)| पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्तीफे की मांग कर रहे जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (जेयूआई-एफ) ने ‘आजादी मार्च’ के मद्देनजर इस्लामाबाद के जिला प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि वह पार्टी को 6 हजार अस्थायी शौचालय का निर्माण करवाने की इजाजत दे। एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की इस्तीफे की मांग को लेकर इस ‘आजादी मार्च’ का आयोजन कर रहे हैं, जिसमें उन्हें वहां स्थित विपक्षी पार्टियों का समर्थन भी मिल रहा है। जेयूआई-एफ का कहना है कि रैली में अधिक संख्या में लोग हिस्सा लेने के लिए आएंगे।

इस्लामाबाद के अतिरिक्त डीसी कामरान चीमा के साथ बैठक में जेयूआई-एफ इस्लामाबाद के प्रमुख मौलाना अब्दुल मजीद हजवी ने कहा, “ऐसे में उन्हें नित्यकर्म करने के लिए शौचालय की आवश्कता होगी। मार्च में शामिल लोगों को पांच बार की नमाज पढ़ने के साथ ही शौचालय के लिए भी स्थान की आवश्कता रहेगी।”


हजवी ने डी चौक से पिम्स अस्पताल तक टॉयलेट बॉक्स और एबुलेंस सेंटर स्थापित करने की अनुमति मांगी है।

चीमा ने जेयूआई-एफ को निर्देशित किया कि वह 27 अक्टूबर की बजाए 31 अक्टूबर को शहर में प्रवेश करने के लिए संशोधित आवेदन प्रस्तुत करे।

पाकिस्तान के तीन अन्य प्रांतों के बीच जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम रविवार को (27 अक्टूबर) कराची से ‘आजादी मार्च’ के लिए पूरी तरह से तैयार है। सिंध प्रांत की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार इस बाबत जेयूआई-एफ का समर्थन कर रही है।


 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like