लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो में पहले की तरह नहीं मिलेगी एंट्री, बदले नियम, ये खास उपाय अपनाए जाएंगे

  • Follow Newsd Hindi On  
लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो में पहले की तरह नहीं मिलेगी एंट्री, बदले नियम, ये खास उपाय अपनाए जाएंगे

भारत में खतरनाक कोरोना वायरस (Coronavirus) के निपटने के लिए कई कड़े कदम उठाए जा रह हैं। अब लॉकडाउन खुलने के बाद दिल्ली मेट्रो रेल कोरपोरेशन (DMRC) के दोबार संचालन के लिए सीआईएसएफ (CISF) ने एक प्रस्ताव तैयार किया है। गरुवार को तैयार हुए इस प्रस्ताव में कहा गया है कि मेट्रो में यात्रा करने से पहले चेकिंग के लिए शरीर से धातु को हटाना अनिवार्य होगा। साथ मास्क पहनना और यात्री के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड होना भी जरूरी है। अगर कोई व्यक्ति इन नियमों की अनदेखी करता है तो उसे मेट्रो में सफर करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा जिस शख्स के अंदर कोरोना के लक्ष्ण पाए जाते हैं उसके ऊपर भी यात्रा करने की पाबंदी लगाई जाएगी।

एंट्री गेट पर बेल्ट निकालनी होगी

इसके अलावा यात्रियों को एंट्री से पहले अपनी बेल्ट या धातु बने सभी सामान को बाहर निकालकर अपने बैग में रखना जरूरी होगा। इस बैग को स्कैनर मशीन की सहायता से जांचा जाएगा। वहीं जिनके पास बैग नहीं होगा उनके लिए ट्रे उपलब्ध कराया जाएगा।


यात्रा के दौरान के 1 मीटर की दूरी बनानी अनिवार्य

साथ ही सिक्योरिटी स्क्रीनिंग के स्थान से लाइन शुरू होने की दूरी 2 मीटर होगी वहीं, यात्रियों के बीच में कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखना अनिवार्य होगा। सभी मेट्रो स्टेशनों पर सीआईएसएफ के दो कर्मी पीपीई सुरक्षा उपकरण को पहने रहेंगे।

एंट्री गेट पर हैंडवाश और हैंड सैनिटाइजर करना होगा इस्तेमाल

यात्री और सेक्योरिटी के स्वास्थ्य के लिए हर एंट्री गेट पर हैंडवाश और हैंड सैनिटाइजर की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। प्रस्ताव के अनुसार प्रत्येक स्टेशन में प्रवेश से पूर्व थर्मल जांच की जाएगी और जिनका तापमान सामान्य नहीं होगा उन्हें प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। खांसी, जुकाम जैसे फ्लू के लक्षणों वाले व्यक्तियों को भी प्रवेश नहीं मिलेगा।

बता दें कि सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (CISF) की योजना के अनुसार, लॉकडाउन खुलने के बाद 160 से अधिक मेट्रो स्टेशनों पर 12 हजार से अधिक जवानों को तैनात किया जाएगा। जो यात्रियों प्रवेश से लेकर निकास तक की हर गतिविधि पर नजर रखेंगे। वहीं, प्रवेश द्वार पर सीआईएसएफ द्वारा यात्रियों को सैनिटाइजर भी दिया जाएगा। थर्मल स्क्रीनिंग में सामान्य ताप वाले यात्रियों को ही मेट्रो स्टेशन में प्रवेश करने दिया जाएगा। जबकि जिस यात्री का तापमान ज्यादा आएगा उसे गेट से ही वापस कर दिया जाएगा।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)