अयोध्या फैसले पर बोले रामलला के वकील- ऐतिहासिक गलती सुधारी गई

अयोध्या फैसले पर बोले रामलला के वकील- ऐतिहासिक गलती सुधारी गई

नई दिल्ली | अयोध्या विवादित भूमि मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा शनिवार को फैसला सुनाए जाने के बाद हिंदू पक्ष के एक वरिष्ठ वकील ने कहा कि ऐतिहासिक गलती सुधार ली गई है।

राम लला विराजमान के वकील और वरिष्ठ अधिवक्ता पी.एस. नरसिम्हा ने आईएएनएस से कहा, “मस्जिद के निर्माण से पहले ही हिंदू राम जन्मभूमि पर पूजा कर रहे थे। और मस्जिद के निर्माण के बाद भी वे आज तक पूजा करते रहे। महान फैसला.. ऐतिहासिक गलती सुधारी गई।”


प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय पीठ ने हिंदू पक्ष के समर्थन में अपना फैसला सुनाया है।

विवादित 2.77 एकड़ भूमि को हिंदू पक्ष को देने का फैसला सुनाते हुए पीठ ने कहा, “केंद्र अयोध्या अधिनियम 1993 के अंतर्गत तीन महीनों के अंदर एक योजना बनाएगा। इसमें मंदिर के निर्माण और प्रबंधन के लिए ट्रस्ट का निर्माण किया जाएगा।”

फैसले के बाद जीत की खुशी मनाते हुए हिंदू पक्ष के वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट परिसर में प्रधान न्यायाधीश के कोर्ट रूम के बाहर एक ग्रुप पिक्चर ली।


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)