पाकिस्तान के राष्ट्रीय पशु के शिकार के लिए इस अमेरिकी ने बहाया पानी की तरह पैसा

पाकिस्तान के राष्ट्रीय पशु के शिकार के लिए इस अमेरिकी ने बहाया पानी की तरह पैसा

पाकिस्तान में एक अमेरिकी नागरिक ने देश के राष्ट्रीय पशु मारखोर (जंगली प्रजाति का बकरा) के शिकार के लिए रेकॉर्ड कीमत अदा की है। देश के उत्तरी गिलगिट-बालटिस्तान इलाके में मारखोर के शिकार के लिए अमेरिकी शख्स ने 1, 10,000 डॉलर की कीमत परमिट शुल्क के तौर पर अदा की है। पाकिस्तान में शिकार के परमिट के लिए यह अब तक दी गई सबसे बड़ी रकम है।

मारखोर को पाकिस्तान में सुरक्षित प्रजाति के अंतर्गत रखा गया है और इसके शिकार की अनुमति नहीं है। सरकार इनके शिकार की अनुमति ट्रोफी हंटिग कार्यक्रमों में ही देती है। ट्रोफी हंटिंग सीजन 2018-19 में अब तक देश और विदेश के शिकारियों ने 50 जंगली जानवरों का शिकार किया है। पिछले महीने ही इस शिकार प्रोग्राम में दो अन्य अमेरिकियों ने सर्वोच्च प्रजाति के एस्टोर मारखोर के शिकार के लिए 1,05,000 और 1,00,000 डॉलर की कीमत बतौर परमिट शुल्क अदा की।


इस परमिट शुल्क से जो भी पैसा मिलता है स्थानीय प्रशासन उसका 80% स्थानीय प्रजातियों को दे देते हैं और बाकी पैसा प्रशासन जानवरों के रख-रखाव के लिए रखता है। स्थानीय लोगों को यह रकम जानवरों की रक्षा के लिए दी जाती है। साथ ही उन्हें जानवरों के शिकार नहीं करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाता है। पाकिस्तान के सरकारी अधिकारियों का कहना है कि हंटिंग ट्रोफी प्रोग्राम के कारण मारखोर के शिकार में कमी आई है और उनकी संख्या पहले की तुलना में बढ़ी है।

गधे दूर करेंगे पाकिस्तान का आर्थिक संकट!


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)