अमेरिका-ईरान तनाव: ईरान से लड़ने के लिए सैनिक भेजने की योजना नहीं- डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका-ईरान तनाव: ईरान से लड़ने के लिए सैनिक भेजने की योजना नहीं- डोनाल्ड ट्रंप

वॉशिंगटन | अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने न्यूयार्क टाइम्स की उस रिपोर्ट को खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया है कि अमेरिका के शीर्ष सुरक्षा अधिकारी ईरान से मुकाबला करने के लिए मध्य पूर्व में लगभग 1,20,000 सैनिकों को भेजने की योजना पर विचार कर रहे हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, “मुझे लगता है कि यह झूठी खबर है, ठीक? अब, क्या मैं ये करूंगा? हमने ऐसी कोई योजना नहीं बनाई है।”


उन्होंने कहा, “उम्मीद है कि हम इसके लिए योजना नहीं बनाने जा रहे हैं। और अगर हमने ऐसा किया तो हम इससे कहीं ज्यादा सैनिक भेजेंगे।”

न्यूयार्क टाइम्स ने सोमवार को प्रकाशित की थी कि कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शैनहैन ने ट्रंप प्रशासन के वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारियों के समक्ष एक नई योजना पेश की है जिसमें कहा गया है कि अगर ईरान अमेरिकी सेना पर हमला करता है या परमाणु हथियारों पर काम तेज करता है तो 1,20,000 अमेरिकी सैनिकों को मध्य एशिया भेजा जा सकता है।

समाचार पत्र ने अज्ञात सूत्रों के हवाले से बताया कि यह आदेश राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन की अगुआई में कट्टरपंथियों ने दिया है।


ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अमेरिका के निकलने के बाद से ईरान के खिलाफ साल भर से चल रहे वॉशिंगटन के अभियान के बाद हाल ही में, अमेरिका ने लगातार कई और प्रतिबंध लगाकर और सैन्य धमकियां देकर तेहरान पर दवाब बढ़ा दिया है।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)