अमेरिका में 2 चीनी हैकर साइबर जासूसी के लिए आरोपित

अमेरिका में 2 चीनी हैकर साइबर जासूसी के लिए आरोपित

वाशिंगटन,  अमेरिकी डिप्टी अटॉर्नी जनरल रॉड रोसेनस्टीन ने खुलासा किया है कि चीन के विदेश सुरक्षा मंत्रालय से जुड़े दो कथित चीनी हैकरों को आरोपित किया गया है। उन पर गोपनीय डेटा जुटाने के लिए कंप्यूटर प्रणालियों के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप हैं। एक संवाददाता सम्मेलन में, रोसेनस्टीन ने कहा कि झू हुआ और झांग शिलांग के रूप में पहचाने गए दो हैकरों पर “अमेरिका और दुनिया में दर्जनों कंपनियों के खिलाफ कंप्यूटर हैकिंग की साजिश रचने” का संदेह है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, अमेरिका ने गुरुवार को चीन को बौद्धिक संपदा और ‘संवेदनशील’ वाणिज्यिक डेटा उल्लंघन के खिलाफ ‘व्यापक साइबर हमला अभियान’ के बाद साइबर स्पेस में जिम्मेदारी से काम करने के लिए कहा था, जो अमेरिका, यूरोप और एशिया में पाया गया है।


एक संयुक्त वक्तव्य में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और घरेलू सुरक्षा विभाग की मंत्री कर्स्टजेन नील्सन ने बीजिंग और वाशिंगटन के बीच 2015 साइबर प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन करने वाली गतिविधियों के बारे में सरकार की ‘चिंता’ जाहिर की।

दोनों ने कहा कि चीन ने कंपनियों या वाणिज्यिक क्षेत्रों को प्रतिस्पर्धी लाभ प्रदान करने के इरादे से इंटरनेट के माध्यम से व्यापार संबंधी गोपनीय बातों या अन्य वाणिज्यिक सूचनाओं सहित बौद्धिक संपदा की चोरी को रोकने और समर्थन नहीं देने की जिम्मेदारी ली थी।

हालांकि, बयान में कहा गया है कि कम से कम 2014 चीनी हैकर्स अपने देश के विदेश सुरक्षा मंत्रालय से जुड़े हुए हैं और कई अमेरिकी और वैश्विक प्रबंधित सेवा और क्लाउड प्रदाताओं को हैक किया है।


पोम्पियो और नील्सन ने कहा कि इन साइबर अपराधियों ने कम से कम 12 देशों में वैश्विक कंपनियों समेत आपूर्तिकर्ताओं के ग्राहक नेटवर्क को जोखिम में डाल दिया है।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)