शांति की उम्मीद: अमेरिका-तालिबान के बीच दोहा में आठवें दौर की वार्ता समाप्त

शांति की उम्मीद: अमेरिका-तालिबान के बीच दोहा में आठवें दौर की वार्ता समाप्त

काबुल | अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी और 18 साल से जारी संघर्ष को समाप्त करने के लिए एक संभावित शांति समझौते पर पहुंचने के उद्देश्य से कतर के दोहा में अमेरिका और तालिबान के बीच ताजा दौर की वार्ता समाप्त हो गई है। टोलो न्यूज की मंगलवार की रपट के मुताबिक, सोमवार मध्य रात्रि के बाद दोहा में आठवें दौर की वार्ता संपन्न हुई।

अफगानिस्तान सुलह के लिए अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि जलमय खलीलजाद ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि तीन अगस्त से शुरू हुई वार्ता फलदायी रही है।


खलीलजाद ने कहा कि वह शांति प्रक्रिया में अगले कदम पर परामर्श के लिए वाशिंगटन लौट रहे हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका “एक स्थायी और सम्मानजनक शांति समझौते और एक संप्रभु अफगानिस्तान की दिशा में कड़ी मेहनत कर रहा है, जो किसी अन्य देश के लिए कोई खतरा नहीं बने।”

तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने एक ट्वीट में कहा कि दोनों पक्षों के वार्ताकार अब अपने नेतृत्व के साथ उन विषयों के बारे में विस्तार से परामर्श करेंगे, जिन पर वार्ता के दौरान चर्चा हुई थी।

टोलो न्यूज ने सोमवार को राजनीतिक विश्लेषक फैज मोहम्मद जलांद के हवाले से कहा, “नाटो और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के प्रतिनिधियो सहित पड़ोसी और क्षेत्रीय देशों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में अगले सप्ताह समझौते पर हस्ताक्षर होने की संभावना है।”


तालिबान के एक पूर्व सदस्य ने नौ अगस्त को टोलो न्यूज को बताया था कि इस सप्ताह के अंत में ईद-उल-अजहा के बाद दोनों पक्षों द्वारा शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने की संभावना है।


अफगानिस्तान से संबंधित नहीं कश्मीर मुद्दा : तालिबान

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)