अयोध्या मामले पर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला सबको मान्य होना चाहिए : नीतीश कुमार

बिहार: उपचुनाव में मुख्यमंत्री नीतीश के 'चेहरे' की साख दांव पर, क्या बरकरार रहेगा CM का जादू

पटना, 9 नवंबर (आईएएनएस)| बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर आने वाले फैसले को लेकर कहा कि सर्वोच्च न्यायालय का फैसला सभी को मानना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला हो वो सबको मान्य होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को पश्चिम चंपारण के वाल्मीकिनगर में पत्रकारों से कहा, “इस मसले को लेकर समाज में सौहार्द का वातावरण बनना चाहिए ना कि कोई विवाद की स्थिति होनी चाहिए।”


उन्होंने कहा कि इतने दिनों से ये मामला चल रहा है और अंतत: सर्वोच्च न्यायालय में पहुंचा है। ऐसे वक्त में, जब आज फैसला आने वाला है मेरी सभी लोगों से अपील है कि इस फैसले को लेकर और इस विषय को लेकर कोई विवाद न करें, साथ ही आपस में सौहार्द बनाए रखें। उन्होंने कहा कि इस मसले को लेकर जो भी फैसला हो सबको मान्य होना चाहिए।

इस बीच, मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि अयोध्या मामले में शनिवार को आ रहे सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने मधेपुरा सहित अन्य जिलों की अपनी यात्रा स्थगित कर दी है। शनिवार को उन्हें इन जिलों में विकास योजनाओं की समीक्षा करनी थी। मुख्यमंत्री शनिवार की सुबह वाल्मीकिनगर से ही पटना लौट आएंगे।


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)