‘बाला’ बनाम ‘उजड़ा चमन’ : विवादों को लेकर आयुष्मान ने तोड़ी चुप्पी

मुंबई, 30 अक्टूबर (आईएएनएस)| राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेता आयुष्मान खुराना ने अपनी आगामी फिल्म ‘बाला’ और ‘उजड़ा चमन’ के बीच हो रही तुलना और इससे संबंधित विवाद के बारे में चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि “हमने अपनी फिल्म को पहले शूट किया, इसकी घोषणा हमने पहले की है।” जहां ‘उजड़ा चमन’ कन्नड़ फिल्म ‘ओंदू मोत्तेया कथे’ की आधिकारिक रीमेक है और आयुष्मान का कहना है कि एक बार फिल्म के रिलीज होने पर दर्शक महसूस करेंगे कि ‘बाला’ की कहानी वास्तविक है।

आयुष्मान ने कहा, “हमने अपनी फिल्म को पहले फिल्माया है, इसका ऐलान पहले हमने ही किया है। इसमें बस एक ही समानता है, बाकी यह एक अलग फिल्म है। हमने दक्षिण भारत की फिल्म (जिस पर ‘उजड़ा चमन’ आधारित है) देखी, उसके बाद हमने शूटिंग पूरी की। फिल्म को देखने के बाद आपको अंतर महसूस होगा। यह (‘बाला’) महज गंजेपन को दूर करने के बारे में नहीं है। इसका मतलब खुद को फिर से पाने एवं किसी भी और चीज की अपेक्षा खुद को अधिक प्यार करने से है।”


‘उजड़ा चमन’ के निर्माताओं ने एक पोस्टर रिलीज की जिसमें लिखा है : “टकले की पहली और ऑरिजिनल फिल्म।” उन्होंने इस बात का संकेत दिया है कि उनकी फिल्म ‘बाला’ से पहले रिलीज होगी और यह भी कि यह फिल्म पहले आई है।

आयुष्मान ने इसके जवाब मे कहा कि एक गंजे इंसान को ‘टकला’ कहना अपमानजनक है।

उन्होंने कहा, “टकला शब्द अपमानजनक है। यह स्व-प्रेम का जश्न नहीं मना रही है, मैंने स्पर्म डोनेशन (विक्की) जैसी विषयवस्तु से शुरुआत की और बाद में ‘शुभ मंगल सावधान’ में काम किया। यह महज एक सहानुभूति है जिसके बारे में मैंने सोचा। मैंने दो तरह के इंसानों से मुलाकात की-एक जो इससे परेशान है और दूसरे जो इसकी परवाह तक नहीं करते हैं। विचार बस इस तथ्य को उजागर करना है कि आपको इससे परेशान नहीं होना चाहिए।”


अमर कौशिक द्वारा निर्देशित इस फिल्म में यामी गौतम, भूमि पेडनेकर, सौरभ शुक्ला सहित और भी कई कलाकार हैं।

‘उजड़ा चमन’ के एक हफ्ते बाद ‘बाला’ रिलीज हो रही है, क्या वह इस बारे में चिंतित हैं कि इससे बिजनेस प्रभावित हो सकती है?

इसके जवाब में आयुष्मान ने कहा, “ऐसा भगत सिंह पर बनी फिल्मों के साथ भी हुआ था। जो फिल्म अच्छी होगी, वह अच्छा प्रदर्शन करेगी। मैं अपनी फिल्म को लेकर वाकई में आश्वस्त हूं। यह एक खूबसूरत फिल्म है और मेरी अब तक पढ़ी गईं बेहतरीन पटकथाओं में से एक है। इस एक विचारधारा पर कोई भी काम कर सकता है।”

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like