बिहार : संतान की चाहत में भतीजे की दे दी बलि

भागलपुर, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)| बिहार के भागलुपर जिले के पीरपैती थाना क्षेत्र में एक तांत्रिक के बहकावे में आकर एक पुत्र की चाहत में एक व्यक्ति द्वारा अपने ही 11 वर्षीय भतीजे की बलि देने का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए तांत्रिक और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने सोमवार को बताया, “पीरपैती थाना क्षेत्र के विनोबा टोला के रहने वाले शिवनंदन को शादी के 12 वर्ष बाद भी कोई संतान नहीं थी। इस दौरान उसने एक तांत्रिक से संपर्क किया। इसी क्रम में तांत्रिक ने शिवनंदन से कहा कि अगर वह किसी रिश्तेदार के बच्चे की बलि दे दे तो उसे संतान की प्राप्ति होगी।”

आरोप है कि शिवनंदन दीपावली की रात अपने भाई सिकंदर दास के पुत्र कन्हैया (11) को पटाखा दिलाने का लालच दिया और गांव के पास स्थित बांस के जंगल में उसकी बलि देकर हत्या कर दी।


रात को कन्हैया की बहुत खोज की गई, परंतु उसका कहीं पता नहीं चला। सोमवार सुबह ग्रामीणों ने गांव के पास ही कन्हैया का सिर कटा शव देखा और इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई। कन्हैया तीसरी कक्षा का छात्र था।

ग्रामीणों के अनुसार, ऐसा प्रतीत हुआ कि पहले कद्दू की बलि दी गई, फिर कन्हैया की बलि दी गई। घटनास्थल से एक कटा हुआ कद्दू भी बरामद किया गया है।

घटना की सूचना के बाद कहलगांव की पुलिस उपाधीक्षक रेषु कृष्णा सहित अन्य पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए और शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भागलपुर भेज दिया है।


पुलिस उपाधीक्षक ने आईएएनएस को बताया कि पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। उन्होंने बताया कि तांत्रिक विलास मंडल और शिवनंदन दास को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा उनसे पूछताछ की जा रही है।

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like