बिहार: जातिगत आधार पर होगी 2021 की जनगणना, विधानसभा में प्रस्ताव पारित

बिहार: जातिगत आधार पर होगी 2021 की जनगणना, विधानसभा में प्रस्ताव पारित

बिहार में 2021 की जनगणना जातिगत आधार पर होगी। गुरुवार को बिहार विधानसभा में सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पारति हो गया।

इससे पहले भी कई मौकों पर राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जातिगत जनगणना का समर्थन कर चुके हैं। जातिगत जनगणना कराए जाने का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा था, “हम भी चाहेंगे कि जातिगत जनगणना हो। जातिगत जनगणना 1930 में हुई थी, उसके बाद नहीं हुई है। इस जनगणना से स्पष्ट हो जाएगा कि कितने लोग किस जाति के रहते हैं।”


गौरतलब है कि 7 फरवरी को जदयू सांसद रामनाथ ठाकुर ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान जातिगत जनगणना का मामला उठाया था। उन्होंने सरकार से साल 2021 में जनगणना के साथ जातिगत जनगणना कराये जाने की मांग की थी। उन्होंने बताया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इस मांग को कई बार उठा चुके हैं।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)