मुंबई में हमारे अधिकारी के साथ जो हुआ, वह गलत है : नीतीश

  • Follow Newsd Hindi On  
Bihar CM Nitish Kumar said that wrong happened to our officer in Mumbai

नीतीश ने कहा है कि हमारे अधिकारी के साथ मुम्बई में जो हुआ, वह सही नहीं है। पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, ” मुंबई गए आईपीएस अधिकारी के साथ जो हुआ वह सही नहीं हुआ। वो अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। हमारे पुलिस महानिदेशक इस मामले में महाराष्ट्र के अधिकारियों से बात करेंगे।”

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात करने के संबंध में पूछे जाने पर नीतीश कुमार ने कहा कि यह राजनीतिक बात नहीं है। यहां के अधिकारी की कानूनी जिम्मेदारी है, वे जिम्मेदारी निभा रहे थे और इस क्रम में उनके साथ यह व्यवहार नहीं होना चाहिए था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हालांकि इस मसले पर सीबीआई जांच के संबंध में कोई बात नहीं की।


इधर, सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय से मुंबई के हालत की जानकारी ली है। सूत्रों का कहना है कि पुलिस मुख्यालय में शाम को पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई गई है, जिसमें मुंबई के हालत पर चर्चा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि बिहार पुलिस की चार सदस्यीय पुलिस टीम मुंबई में सुशांत आत्महत्या मामले की जांच कर रही है।

इसी सिलसिले में आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को रविवार को मुम्बई भेजा गया था, लेकिन रात करीब 11 बजे बीएमसी ने तिवारी को जबरन क्वारंटाइन कर दिया। 2015 बैच के प्रशासनिक सेवा अधिकारी विनय तिवारी रविवार दोपहर मुम्बई पहुंचे थे। वहां पहुंचते ही तिवारी अपना पहला बड़ा कदम उठा पाते उससे पहले ही बीएमसी ने उन्हें क्वारंटीन कर दिया।

विनय तिवारी ने मुम्बई हवाई अड्डे पर ही कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की जांच सही दिशा में आगे जा रही है। इसके बाद वह अपने चार साथियों के साथ गोरेगांव के एक गेस्टहाउस में गए जहां उनकी साथियों के साथ लम्बी बातचीत हुई। सोमवार को उन्हें बांद्रा जोन-9 के डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे से मिलना था। त्रिमुखे ही सुशांत की संदिग्ध मौत के बाद उनसे जुड़ा मामला देख रहे हैं।


अब तिवारी 15 अगस्त तक क्वारंटीन रहेंगे। बीएमसी ने हालांकि यह नहीं बताया है कि तिवारी को कहां रख गया है। यहां बता दें कि पटना के रहने वाले सुशांत का शव उनके मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में 14 जून को मिला था। इसके बाद इस मामले की जांच मुबई पुलिस कर रही थी।

इसके बाद सुशांत के पिता के.के. सिंह ने उसकी मित्र रिया चक्रवर्ती, उनके परिवार के सदस्यों सहित और छह अन्य लोगों के खिलाफ उनके बेटे को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला 25 जुलाई को पटना में दर्ज कराया। इस मामले की जांच के लिए बिहार पुलिस की एक टीम मुंबई में है।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)