बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का लंबी बीमारी के बाद दिल्ली में निधन

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का लंबी बीमारी के बाद दिल्ली में निधन

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र (Jagannath Mishra) का दिल्ली में 82 साल की उम्र में निधन हो गया है। 3 बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके मिश्र लंबे समय से बीमार चल रहे थे और दिल्ली में उनका इलाज चल रहा था। वो कैंसर और अन्य बीमारियों से ग्रस्त थे।

बिहार कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार रहे जगन्नाथ मिश्र तीन बार कांग्रेस पार्टी में रहते हुए बिहार के मुख्यमंत्री बने थे। बाद में उन्होंने कांग्रेस छोड़ दिया और जदयू में शामिल हो गए। जगन्नाथ मिश्र का विवादों से भी नाता रहा। बिहार में 950 करोड़ रुपये के चर्चित चारा घोटाले में भी वह फंसे थे।


प्रोफेसर से की करियर की शुरुआत, विरासत में मिली राजनीति

बिहार के बड़े राजनीतिक परिवार से ताल्लुक रखने वाले जगन्नाथ मिश्र ने प्रोफेसर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी। बचपन से ही उनकी रुचि राजनीति में थी। उनके बड़े भाई ललित नारायण मिश्र राजनीति में थे और रेल मंत्री की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

3 बार संभाली राज्य की कमान

छात्रों को पढ़ाने के दौरान मिश्र कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए। इसके बाद उन्होंने 3 बार राज्य की कमान संभाली। सबसे पहले 1975 से 1977 तक, दूसरी बार 1980 से 1983 तक और 1989 से 1990 तक। 1990 के दशक के मध्य में वह केंद्रीय कैबिनेट मंत्री की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। उन्हें बिहार के बड़े नेताओं के तौर पर जाना जाता है।

बिहार में कांग्रेस के आखिरी मुख्यमंत्री

बिहार में जगन्नाथ मिश्रा कांग्रेस के आखिरी मुख्यमंत्री थे। उनके बाद पार्टी राज्य की सत्ता की कमान अपने पास रखने में असफल रही है। मिश्रा के बाद 1989 में लालू प्रसाद यादव राज्य के मुख्यमंत्री बने। इसके बाद पिछले 30 सालों से कांग्रेस अपने बलबूते राज्य में सरकार बनाने में असफल रही है। वहीं करीब 15 सालों से नीतीश कुमार राज्य की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)