संजीवनी है शराब: जदयू MLA ने किया जीतन राम मांझी के बयान का समर्थन, तेजस्वी ने दी ब्रेथ एनलाइजर टेस्ट की चुनौती

संजीवनी है शराब: जदयू MLA ने किया जीतन राम मांझी के बयान का समर्थन, तेजस्वी ने दी ब्रेथ एनलाइजर टेस्ट की चुनौती

बिहार में 2016 से पूर्ण शराबबंदी लागू है। मगर राज्य की सियासत में अक्सर शराबबंदी के औचित्य पर सवाल उठते रहे हैं। शराब एक बार फिर बिहार की राजनीति के केंद्र में है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने शराब को संजीवनी बताया है जिसपर उन्हें जदयू के विधायक का समर्थन मिला है। जदयू विधायक श्याम बहादुर सिंह ने कहा है कि मांझी ने जो कुछ भी कहा था, वह गलत नहीं है। शराब व्यवस्था और संस्कृति के हिसाब से पीनी चाहिए।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बिहार के सीवान जिले के बड़हरिया विधानसभा क्षेत्र से जदयू विधायक श्याम बहादुर सिंह से जब जीतन राम मांझी के शराब वाले बयान पर पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘जीतन राम मांझी ने जो कहा था, वह गलत नहीं है। मैं उनसे असहमत नहीं होऊंगा। शराब को व्यवस्था और संस्कृति के हिसाब से पीनी चाहिए।’



बिहार में 2016 से ही पूर्ण शराब बंदी है। हाल ही में जीतन राम मांझी ने कहा था कि कम मात्रा में या दवाई की तरह इस्तेमाल करने पर शराब संजीवनी की तरह काम करती है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि अगर हम समर्थित सरकार बिहार में बनती है तो शराबबंदी कानून को बदल देंगे।

वहीं दूसरी तरफ नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। तेजस्वी ने ट्वीट किया- “मैं मुख्यमंत्री नीतीश जी से अपने करीबी नेताओं और अफसरशाहों का किसी भी दिन कभी भी ब्रेथ एनलाइजर टेस्ट करने की चुनौती देता हूं। यह रिजल्ट शराबबंदी का भी रिजल्ट होगा। नीतीश जी, अपनी गलती मानें और लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए माफी मांगे। राज्य के डीजीपी पहले ही इसे स्वीकार चुके हैं।”

गौरतलब है कि बड़हरिया विधायक श्याम बहादुर सिंह अक्सर अपनी हरकतों से चर्चा में रहते हैं। ऑरकेस्ट्रा में डांस करने वाली लड़कियों के साथ ठुमके लगाने के उनके वीडियो कई बार वायरल हो चुके हैं।


प्रशांत किशोर पर भड़के जदयू विधायक ने ऐसा क्या कह दिया कि Video Viral हो गया

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)