मोदी सरकार के मंत्री ने कहा- बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल, डाक्टरों को बताया कामचोर

मोदी सरकार के मंत्री ने कहा- बिहार की स्वास्थ व्यवस्था बदहाल, डाक्टरों को बताया कामचोर

बिहार के आरा से सांसद और मोदी सरकार में राज्य मंत्री राजकुमार सिंह ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने राज्य के डाक्टरों पर हमला बोला है। सांसद ने कहा, ‘बिहार के चिकित्सक कामचोर हैं। किसी भी अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र(PHC) और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (CHC) में डॉक्टर सही से काम नहीं करते हैं बल्कि उनकी जगह कोई कंपाउंडर या कोई महिला उस मरीज का इलाज करती है। यह स्थिति है आज के स्वास्थ्य विभाग की’। ये बातें ऊर्जा मंत्री सह सांसद आरके सिंह ने एक कार्यक्रम के दौरान कही।

दरअसल जिले में एक मेगा हेल्थ कैम्प शिविर का आयोजन किया गया था। इसका उदघाटन हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने किया। वहीं, इस कार्यक्रम में शामिल होने आए आरा सांसद आरके सिंह ने बिहार की चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्था और लापरवाह चिकित्सकों पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है।


बिना डॉक्टर के होता है मरीज का इलाज

उन्होंने कहा कि सदर अस्पताल, PHC और CHC की हालत ऐसी हो गयी है कि न तो डॉक्टर हैं न दवाई। हालत यह है कि बिना डॉक्टर के भी मरीज का इलाज हो जाता है। इतना ही नही उन्होंने राजनीतिक चुटकी लेते हुए कहा कि अगर लोगों का चारित्रिक सुधार हो जाय तो राजनीति में सुधार हो जाएगा।

अन्य राज्यों का दिया उदाहरण


मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य की ऐसी स्थिति केवल बिहार में ही है। उन्होंने तमिलनाडु और कर्नाटक जैसे राज्यों का जिक्र करते हुए कहा कि इन राज्यों में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था की स्थिति काफी हद तक बेहतर हैं। उन्होंने लोगों के अंदर सुधार पर जोर दिया। मंत्री ने कहा कि बिहार में स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार लाने की काफी जरूरत है। इसके लिए सार्थक प्रयास करने पड़ेगे।


तेजस्वी का नीतीश कुमार पर हमला, कहा- CM अपराध रोकने के बजाए अपराधियों के संरक्षण में जुटे

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)