Bihar STET 2019: परीक्षार्थियों को दोबारा नहीं भरना पड़ेगा फॉर्म, बिहार बोर्ड ने तारीख को लेकर कही ये बात

STET 2019: परीक्षार्थियों को दोबारा नहीं भरना पड़ेगा फॉर्म, बिहार बोर्ड ने तारीख को लेकर कही ये बात

Bihar STET 2019: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (Bihar Board) ने माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीइटी 2019) को लेकर आवेदनकर्ताओं को बड़ी राहत दी है। समिति ने कहा कि STET 2019 की परीक्षा में शामिल परीक्षार्थियों को रद्द की गई परीक्षा में दोबारा सम्मिलत होने के लिए कोई परीक्षा शुल्क नहीं देना होगा। इसके साथ पुनर्परीक्षा के लिए अलग से कोई फॉर्म भरने की आवश्यकता नहीं है।

बोर्ड ने कहा है कि एसटीइटी की पुनर्परीक्षा के लिए तारीख तय होने के बाद परीक्षार्थियों को जानकारी दी जाएगी। परीक्षा में धांधली के आरोप में बिहार बोर्ड ने 28 जनवरी को ली गयी एसटीईटी 2019 परीक्षा को रद्द किया था। परीक्षा रद्द करने के साथ ही बोर्ड ने शिक्षा विभाग को फिर से परीक्षा आयोजित करने के लिए अनुशंसा भेजी है।


26 फरवरी को ली गयी परीक्षा पर फैसला नहीं

28 जनवरी को एसटीईटी ली गई थी, लेकिन हंगामे के कारण पटना के एएन कॉलेज समेत प्रदेश भर में तीन और केंद्रों की परीक्षा को रद्द किया गया था। इनकी परीक्षा बाद में 26 फरवरी को ली गई। इसके बाद बोर्ड ने केवल 28 जनवरी के 317 परीक्षा केंद्र की परीक्षा को रद्द किया। इसको लेकर अभ्यर्थी परेशान हैं कि 26 फरवरी की परीक्षा रद्द हुई है या नहीं।

गौरतलब है कि एसटीइटी पेपर-1 परीक्षा के लिए 1,81,738 लोगों ने फॉर्म था। वहीं पेपर-2 के लिए 65,503 लोगों ने परीक्षा फॉर्म भरा था। 37,440 शिक्षकों की सीटों के लिए एसटीइटी परीक्षा आयोजित हुई थी। हैरानी की बात ये है कि आठ सालों के बाद एसटीईटी ली गई थी, लेकिन इसका कोई सिलेबस जारी नहीं किया गया था। परीक्षा के दिन तक अभ्यर्थी सिलेबस को लेकर उधेड़बुन में थे कि सिलेबस क्या है। हर विषय के लिए केवल निश्चित योग्यता मांगी गई थी।


Bihar STET 2019: बिहार बोर्ड ने रद्द की एसटीईटी 2019 परीक्षा, जांच समिति ने माना- लीक हुआ था पेपर


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)