बंगाल में लोकतंत्र महज दिखावा : फिल्मकार अनिक दत्ता

  • Follow Newsd Hindi On  

कोलकाता, 16 मार्च (आईएएनएस)| अपनी फिल्म ‘भोबिष्योतेर भूत’ पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए फिल्मकार अनिक दत्ता ने शुक्रवार को कहा कि सब जानते हैं कि बंगाल की प्रशासनिक प्रमुख का लोकतंत्र का समर्थक होना पूरी तरह से दिखावा है।

शीर्ष अदालत ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल सरकार और गृह मामलों के विभाग सहित सरकार के विभागों और कोलकाता पुलिस आयुक्त को फिल्म के प्रदर्शन में कोई बाधा उत्पन्न करने से दूर रहने के निर्देश दिए। फिल्म को रिलीज के एक दिन बाद ही राज्य के अधिकांश सिनेमाघरों, मल्टीप्लेक्स से रहस्यमयी तरीके से हटा लिया गया था।


अनिक ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का नाम लिए बिना कहा, “राज्य प्रशासन की प्रमुख काफी फासीवादी नेता हैं और वह खुद को लोकतंत्र का जबरदस्त समर्थक दिखाने की कोशिश करती हैं, लेकिन यह पूरी तरह से दिखावा है।”

‘भोबिष्योतेर भूत’ एक राजनीतिक व्यंग्य है जिसे 15 फरवरी को रिलीज किया गया था लेकिन इसे अगले दिन सिनेमाघर के मालिकों द्वारा कथित तौर पर ‘उच्च अधिकारी’ के निदेशरें के कारण स्क्रीन से हटा दिया गया था।

 


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)