बॉलीवुड पर चढ़ा ‘समलैंगिकता’ का रंग

बॉलीवुड पर चढ़ा 'समलैंगिकता' का रंग

नई दिल्ली | बॉलीवुड में अक्षय कुमार जैसे सुपरस्टार अगर ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ जैसी किसी फिल्म में समलैंगिक किरदार निभा सकते हैं, तो ऐसे में समझा जा सकता है कि इंडस्ट्री की वाणिज्यिक फिल्मों में नए दौर की शुरुआत हो चुकी है।

आजकल बॉलीवुड की फिल्मों में हीरो की परिभाषा बदल चुकी है, अब इन्हें सिर्फ मसल्स के साथ या पांच-छह गुंडों से हीरोइन को बचाने वाले किसी शख्स के रूप में पेश नहीं किया जाता है। बदलते जमाने में कलाकार भी तरह-तरह की चीजों को अपनाने में अपनी पसंद जाहिर कर रहे हैं।


पहले के जमाने में समलैंगिक जैसी किसी भूमिका को केवल सहायक कलाकार या कम परिचित वाले नवागंतुक अभिनेता ही निभाते थे। यहां तक कि उस जमाने की फिल्मों में मुख्य अभिनेता का महिलाओं के रूप में सजना-संवरना भी या तो न के बराबर था या इन्हें सिर्फ गाने तक ही सीमित रखा जाता था, उदाहरण के तौर पर ‘लावारिस’ फिल्म में अमिताभ बच्चन पर फिल्माया गया ‘मेरे अंगने में तुम्हारा क्या काम है’ या फिल्म ‘बाजी’ में आमिर खान के गाने ‘डोले डोले’ को लिया जा सकता है।

फिल्म ‘चाची 420’ में कमल हासन और ‘आंटी नंबर 1’ में गोविंदा को भले ही एक महिला के रूप में पेश किया जा चुका है, लेकिन इसके पीछे फिल्म की कहानी में छिपी कोई वजह रही है।

मोटे तौर पर, समलैंगिक किरदार या महिलाओं के रूप में सज-धजकर किसी भूमिका को निभाना अकसर कैरेक्टर आर्टिस्ट तक ही सीमित रहा है। जैसे कि सदाशिव अमरापुरकर (‘सड़क’), प्रशांत नारायण (‘मर्डर 2’), रवि किशन (‘बुलेट राजा’) इत्यादि।


आईएएनएस की ओर से कुछ ऐसे ही चुनिंदा कलाकारों पर गौर फरमाया गया है, जो समलैंगिक या दूसरे लिंग की भूमिका को निभाने के लिए तैयार हैं या जो पहले भी ऐसी भूमिकाएं निभा चुके हैं।

अक्षय कुमार : अक्षय अपनी आने वाली फिल्म ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ में एक ऐसा किरदार निभा रहे हैं जिस पर किसी समलैंगिक इंसान की आत्मा सवार हो जाती है। यह फिल्म इस साल 5 जून को रिलीज होगी।

शरद केल्कर : फिल्म ‘बाहुबली’ के हिंदी संस्करण में अपनी आवाज देने वाले अभिनेता शरद केल्कर भी अक्षय की फिल्म ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ में एक भिन्न अवतार में दिखने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। उनके किरदार के बारे में अभी ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है, लेकिन उन्हें एक बार गोरेगांव में स्थित फिल्मिस्तान स्टूडियो में लाल रंग की साड़ी पहने देखा गया है।

अदा शर्मा : अदा फिल्म ‘मैन टू मैन’ में एक समलैंगिक महिला के किरदार में नजर आएंगी।

प्रशांत नारायण : फिल्म ‘मर्डर 2’ में प्रशांत द्वारा निभाया गया एक समलैंगिक शख्स का किरदार आज भी लोगों की जुबां पर है। वह इसमें एक नकारात्मक भूमिका में थे।

आमिर खान : फिल्म ‘बाजी’ के गीत ‘डोले डोले’ के अलावा आमिर कई विज्ञापनों में भी खुद को एक महिला के रूप में दर्शकों के सामने पेश कर चुके हैं।

आशुतोष राणा : फिल्म ‘संघर्ष’ में आशुतोष राणा ने खुद को एक समलैंगिक शख्स के रूप में पेश किया था, जो मासूम बच्चों को अगवा कर उनकी कुर्बानी चढ़ाता था। आशुतोष ने जिस बेहतरीन अंदाज में इस किरदार को निभाया था उसे आज भी भुलाया नहीं जा सकता।

पर्दे पर इस तरह की भूमिका को निभाने वाले इंडस्ट्री के उच्च श्रेणी के कलाकारों में परेश रावल, रितेश देशमुख, सदाशिव अमरापुरकर, महेश मांजरेकर जैसे नाम भी शामिल हैं।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)