Chandra Grahan 2020: लगने जा रहा है इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें भारत में कैसा होगा इसका असर

  • Follow Newsd Hindi On  
Paush Amavasya 2021: इन दिन है पौष अमावस्या, शुभ मुहूर्त से लेकर महत्व तक जानें सब कुछ

इसी महीने की 30 तारीख को साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण को लगने जा रहा है। इस बार खास बात यह है कि चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2020) कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही पड़ेगा। इस बार लगने वाला यह चंद्रग्रहण उपछाया होगा। चन्द्रग्रहण हिन्दु धर्म में एक धार्मिक घटना है जिसका धार्मिक दृष्टि से बेहद विशेष महत्व है।

जिन चन्द्रग्रहण को नग्न आँखों से नहीं देखा जाता उस चन्द्रग्रहण का धार्मिक महत्व नहीं होता है। केवल उपच्छाया वाले चन्द्रग्रहण नग्न आँखों से दृष्टिगत नहीं होते हैं इसलिए उनका महत्व नहीं होता है और कोई भी ग्रहण से सम्बन्धित कर्मकाण्ड नहीं किया जाता है। केवल प्रच्छाया वाले चन्द्रग्रहण, जो कि नग्न आँखों से दृष्टिगत होते हैं, उनका धार्मिक महत्व माना गया है।


30 नवंबर 2020 को पड़ने वाला चंद्र ग्रहण दोपहर 1 बजकर 4 मिनट पर शुरू होगा और शाम 5 बजकर 22 मिनट पर खत्म हो जाएगा। पूर्णिमा तिथि को रोहिणी नक्षत्र और वृषभ राशि में ये चंद्र ग्रहण होगा।

एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका के कुछ हिस्सों में साल का ये आखिरी चंद्रग्रहण दिखाई देगा। भारत में ये चंद्र ग्रहण नहीं दिखाई देगा। चंद्र ग्रहण के शुरु होने से 9 घंटे पहले सूतक लग जाता है। लेकिन ये चंद्र ग्रहण एक उपछाया ग्रहण है और ये भारत में दिखाई नहीं देगा, इसलिए यहां इसका सूतक काल मान्य भी नहीं होगा। उपछाया होने के कारण ये चन्द्रग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। शास्त्रों में उपछाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण नहीं माना जाता है।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)