जन्मदिन विशेष: बिना कुछ बोले दुनिया को हँसाने वाले महान कलाकार थे चार्ली चैपलीन

जन्मदिन विशेष, बिना कुछ बोले दुनिया को हँसाने वाले महान कलाकार थे चार्ली चैपलीन

हॉलीवुड कॉमिक एक्टर और फिल्ममेकर चार्ली चैपलिन को कौन नहीं जानता। हंसी के बेताज बादशाह रहे चार्ली चैपलिन साइलेंट एरा के उन महान कलाकारों में से हैं, जिन्हें आज भी उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए याद किया जाता है। एक्टर होने के साथ- साथ चार्ली भी क्लासिक हॉलीवुड युग के एक महत्वपूर्ण फिल्म निर्माता, संगीतकार और संगीतज्ञ भी रहे।

आज ही के दिन, 16 अप्रैल 1889 को लंदन में जन्मे चार्ली चैपलिन का नाम सर चार्ल्स स्पेन्सर चैप्लिन था। माता – पिता दोनों के गायक व अभिनेता होने के कारण एक्टिंग और संगीत के प्रति उनका ख़ास लगाव था। उन्होंने अपनी माता से गायकी सीखी।


बिना कुछ बोले पूरी दुनिया को हँसाने वाले चार्ली चैपलिन ने अपने करियर की शुरुआत 13 वर्ष की आयु में ही कर दी थी। उन्होंने अपने 75 वर्ष के फिल्मी करियर में अभिनता, निर्देशक, राइटर, निर्माता और संगीतज्ञ की सारी जिम्मेदारियो को बखूबी निभाया। चार्ली ने कला के हर क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया लेकिन उन्होंने कॉमिक एक्टर के तौर पर दुनिया में कॉमिक एक्टिंग को अलग ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया और आज भी कॉमिक एक्टिंग में कोई उंनकी बराबरी  नहीं कर पाया है। चार्ली अपनी कॉमिक एक्टिंग के साथ- साथ अपनी चाल के लिए भी काफी पसंद किये गए और आज भी उनके चलने के स्टाइल को कॉपी किया जाता है।

6 जुलाई, 1925 को वह टाइम मैग्जीन के कवर पर आने वाले पहले एक्टर बने। 1973 में ‘लाइम-लाइट’ में बेस्ट म्युजिक के लिए ऑस्कर अवॉर्ड से सम्मानित चार्ली को 1975 में महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय द्वारा नाइट की उपाधि दी गयी। उन्हें दो मानद अकादमी पुरस्कार भी दिए गए।

दुनिया को बिना कुछ बोले हँसाने वाले इस कलाकार ने बीमारी के चलते 25 दिसंबर 1977 को दुनिया को अलविदा कह दिया।


चार्ली चैपलिन जितने अच्छे कलकार थे उतने ही सादगी भरे इंसान भी थे।  उन्हें फिल्मों में उनके योगदान के साथ- साथ उनके विचारों के लिए भी सराहा जाता है। चार्ली के कुछ कोट्स आप भी पढ़िए।

  1.  हंसी के बिना बिताया हुआ दिन, बर्बाद किया हुआ दिन है।
  2. मेरी जिंदगी में बेशुमार दिक्‍कतें हैं लेकिन यह बात मेरे होंठ नहीं जानते. वो सिर्फ मुस्‍कुराना जानते हैं।
  3. आईना मेरा सबसे अच्‍छा दोस्‍त है क्‍योंकि जब मैं रोता हूं तो वो कभी नहीं हंसता।
  4. अगर आप जमीन पर देखेंगे तो कभी इंद्रधनुष नहीं देख पाएंगे।
  5. बिना कुछ करे कल्पना का कोई मतलब नहीं है।
  6. आप किसका अर्थ जानना चाहते हैं? ज़िन्दगी इच्छा है, अर्थ नहीं।
  7. जिस दिन आप हंसते नहीं वो दिन बेकार चला जाता है।
  8. एक आवारा, एक सज्जन, एक कवि, एक सपने देखने वाला, एक अकेला आदमी, हमेशा रोमांस और रोमांच की उम्मीद करते है।
  9. असफलता बहुत ही गैरजरूरी चीज है।  इसके लिए खुद को मूर्ख बनाने की हिम्मत की दरकार होती है।
  10. मेरा दर्द किसी के हंसने का कारण हो सकता है पर मेरी हंसी कभी भी किसी के दर्द कारण नहीं  होनी चाहिए।

 

 

 

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)