पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने हिरासत में लिए कई कार्यकर्ता

पेट्रोल और डीजल (Petrol-Diesel) के बढ़ते दामों को लेकर आज कांग्रेस पार्टी विरोध प्रदर्शन कर रही है। सुबह जब दिल्ली कांग्रेस के कार्यकर्ता जब मुख्यमंत्री केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल के घर के बाहर प्रदर्शन करने जा रहे थे, तो दिल्ली पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया।

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए धारा-144 लागू है और किसी को भी प्रदर्शन की इजाजत नहीं है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी भी केंद्रीय सरकार द्वारा पेट्रोल की कीमतों में अनियमित बढ़ोतरी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शामिल हैं। यह प्रदर्शन केंद्र द्वारा एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने और दिल्ली सरकार द्वारा वैट में इजाफा करने के विरोध में किया जा रहा हैं।


कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी एक कैंपेन की शुरुआत की, जिसके तहत सोशल मीडिया पर कांग्रेस पार्टी इस मसले को उठा रही है। राहुल गांधी ने एक वीडियो साझा करते हुए ट्वीट कर लिखा कि आइये #SpeakUpAgainstFuelHike Campaign से जुड़ें।

एक तरफ पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं दूसरी ओर राज्य सरकारों की ओर से भी जो वैट लगाया जाता है उसका भी इसपर असर पड़ रहा है. बीते दिनों भाजपा की ओर से पलटवार भी किया गया था कि दिल्ली में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के पीछे राज्य सरकार द्वारा लगाया गया वैट है।

सोमवार को तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल के दाम में चार-पांच पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की है, वहीं डीजल का भाव 11.13 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव बढ़कर क्रमश: 80.43 रुपये, 82.10 रुपये, 87.19 रुपये और 83.63 रुपये प्रति लीटर हो गया है।


डीजल का दाम भी चारों महानगरों में बढ़कर क्रमश: 80.53 रुपये, 75.64 रुपये, 78.83 रुपये और 77.72 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया। इस महीने सात जून से तेल की कीमतों में वृद्धि का लगातार बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है, जिसके बाद 23 दिनों में 22 बार डीजल के दाम में वृद्धि हुई जबकि पेट्रोल की कीमत में 21 बार वृद्धि हुई है।

देश की राजधानी दिल्ली में इस महीने अब तक डीजल के दाम में 11.14 रुपये लीटर इजाफा हो चुका है। वहीं पेट्रोल की कीमत 9.17 रुपये लीटर बढ़ गई है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पेट्रोल (Petrol) से महंगा डीजल हो गया है। उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में नरमी बनी हुई है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)