कोरोना: गिरफ़्तारी से बचने के लिए नई चाल, पुलिस को देखकर खांसने-छींकने लगते हैं अपराधी

कोरोना: गिरफ़्तारी से बचने के लिए नई चाल, पुलिस को देखकर खांसने-छींकने लगते हैं अपराधी

कोरोना जैसी महामारी में पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए अपराधी तमाम तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। अलग-अलग जगहों से कई ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, जहां अपराधी छींक कर या खांसकर पुलिस वालों को डरा रहे हैं ताकि जवान उनके आसपास भी न फटके। पटना के रेंज आईजी संजय सिंह ने सभी पुलिसकर्मियों को यह निर्देश दिये हैं कि जो भी ऐसी हरकत करता है उसपर तत्काल कार्रवाई करें।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पटना पुलिस ने पिछले दिनों एक दुकानदार रवींद्र केसरी की हत्या में शामिल दो अपराधियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस जब इन अपराधियों को गिरफ्तार करने गयी तो इन्होंने खांसना शुरू कर दिया। शुरू में पुलिस के जवान थोड़े सहम गये, लेकिन फिर उन्होंने हिम्मत दिखाते हुए दोनों को पकड़ लिया।


थाना पहुंचने के बाद इन दोनों अपराधियों ने फिर से खांसना और छींकना शुरू कर दिया। अपराधियों की हरकत को देखकर पुलसिकर्मियों को उन पर शक हुआ। फिर दोनों से सख्ती से पूछताछ की गयी तो उन्होंने कहा कि वे जान-बूझकर खांस रहे थे, ताकि पुलिस को लगे कि उनमें कोरोना बीमारी के लक्षण हैं और उनकी गिरफ्तारी न हो सके। अपराधियों का जवाब सुनकर पुलिस भी हैरान हो गयी।

मास्क-ग्लब्स पहनकर छापेमारी कर रही पुलिस

आईजी रेंज संजय सिंह ने कहा कि छापेमारी के लिए जाते हुए पुलिसकर्मी मास्क और ग्लब्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। निजी तौर पर पुलिसवाले खुद के लिये मास्क खरीद रहे हैं। कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी के बावजूद हमारी पुलिस टीम पूरे जोश और जज्बे के साथ काम कर रही है। पुलिसकर्मी लोगों की मदद भी कर रहे हैं। पहले की तरह ही पुलिस अपराधियों पर हावी रहेगी। लॉकडाउन तोड़ने वालों पर भी कार्रवाई होगी। पुलिसकर्मियों को ये निर्देश दिये गये हैं कि वे अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखें।


कोरोना वायरस: लालू यादव को मिल सकती है बड़ी राहत, जेल से छूट सकते हैं RJD सुप्रीमो


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)