जवानों को लगी PUBG की लत, CPRF ने दिए गेम पर बैन लगाने के आदेश

जवानों को लगी PUBG की लत, CPRF ने दिए गेम पर बैन लगाने के आदेश

भारत में लोगों को प्‍लेयर्स अननोन बैटलग्राउंड (PUBG) गेम की लत लगी हुई है। देखा जा सकता है कि हर वर्ग के लोग इस खेल के पीछे पागल होते जा रहे हैं। आए दिन इससे जुड़ी खबरें आती रहती हैं। इन्ही सब के बीच अब खबर आई है कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) के जवान भी PUBG गेम के आदि होते जा रहें हैं। CRPF की ओर से कमांडिंग ऑफिसर्स को निर्देश भी दिए गए हैं कि जवानों को PUBG खेलने से रोका जाए।

दरअसल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) की ओर से एक सर्वे किया गया। सर्वे की रिपोर्ट में कहा गया कि CRPF के जवानों का ऑनलाइन गेमिंग एप के प्रति रुझान बढ़ता जा रहा है। गेमिंग एप के प्रति उनकी इस लत से उनकी ऑपरेशनल एबिलिटी में निराशाजनक असर पड़ रहा है। सर्वे में यह कहा गया है कि PUBG की वजह से जवानों के बर्ताव में बदलाव देखें जा रहे है। इसके अलावा कई जवानों में ऑबेसिटी (Obesity) के लक्षण भी देखे गए हैं, जिसकी वजह से उनकी परफार्मेस पर खासा असर पड़ रहा है।


दिल्ली में स्थित CRPF के हेडक्वार्टर से सूर्त्रों ने बताया कि PUBG की लत के कारण जवानों ने अपने साथी जवानों से मिलना-जुलना भी बंद कर दिया है। साथ ही इस गेम के कारण जवान पूरी नींद नहीं ले रहे है, जिसका असर उनकी शारीरिक क्रियाओं पर भी दिखाई दे रहा है। CRPF की बिहार यूनिट द्वारा इस जवानों के इस गेम को खेलने को लेकर एक सर्कुलर भी जारी किया गया है।

बता दें कि PUBG की इस लत के चलते जवानों की ऑपरेशनल परफार्मेंस पर खासा बुरा असर पड़ रहा है। इसी के कारण 6 मई को सर्कुलर जारी किया गया, जिसमें कहा गया है कि ‘इस बात पर संज्ञान लिया गया है कि CRPF के जवान, खासकर युवा जवानों को PUBG गेम की लत लग रही है। यह एक गेम एप है और इन जवानों को इसकी लत लगना या फिर इस पर कई घंटों तक व्‍यस्‍त रहने से उनकी ऑपरेशनल परफार्मेंस पर असर पड़ेगा, वह आक्रामक हो सकते हैं और उनमें नशे जैसी दूसरी बुरी आदतें घर कर सकती हैं।’

इस सर्कुलर में सभी डीआईजी (DIG) को आदेश दिए गए हैं कि यह सुनिश्चित करें कि वे सभी यूनिट या कंपनी के कमांडर जवानों ने अपने फोन से PUBG गेम डिलीट किया या नहीं। इसके साथ ही उन्हें आदेश है कि जवानों के फोन समय- समय पर चेक किये जाएं। इससे पहले जनवरी में गुजरात की सरकार की ओर से भी सर्कुलर जारी किया गया था। इस सर्कुलर में सभी जिला अथॉरिटीज को निर्देश दिए गए थे कि स्‍कूलों में छात्रों के पबजी खेलने पर सख्‍ती से रोक लगाई जाए।


बता दें कि PUBG में हर एक गेम में करीब सैंकड़ों खिलाड़ी होते हैं, जो एक द्वीप पर होते हैं। यहां पर उन्‍हें खुद को बचाने के लिए दूसरों की जान लेनी होती है और इसके लिए उन्‍हें हथियार तलाशने होते हैं। आखिरी में जो खिलाड़ी या टीम बचती है, वह विजेता होता है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)