अस्पताल में दुष्कर्म पीड़िता से मिले सीएम केजरीवाल, परिवार को 10 लाख रुपये देने का किया ऐलान

नाबालिगों से अपराध की वारदातें खत्म होने का नाम नहीं ले रही। आए दिन रोजाना ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जो हमारी कानून व्यवस्था की पोल खोल रहे हैं। शनिवार यानि आज सुबह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारका में दुष्कर्म पीड़ित बच्ची से मिलने सफदरजंग अस्पताल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बच्ची के परिवार के सदस्यों से बातचीत की। सीएम केजरीवाल ने पीड़ित परिवार को दस लाख रुपये देने की घोषणा की है।

सीएम केजरीवाल ने बताया कि मैंने डॉक्टर से मुलाकात की, डॉक्टर ने बताया कि पीड़िता की हालत स्थिर है और वह खतरे से बाहर है। हम केस लड़ने के लिए पीड़िता के परिवार को वकील भी मुहैया कराएंगे।


क्या है पूरा मामला?

खबरों के मुताबिक, द्वारका सेक्टर-23 थाना क्षेत्र के भरथल गांव में नाबालिग बच्ची से पड़ोस में रहने वाले 24 वर्षीय युवक ने दुष्कर्म किया। युवक बीते मंगलवार को बच्ची को फ्रूटी पिलाने का झांसा देकर अपने साथ ले गया और दुष्कर्म किया। बच्ची को लहूलुहान देखकर एक महिला ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने बच्ची को पास के अस्पताल में भर्ती कराया। वहां से उसे सफदरजंग अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। बच्ची की हालत स्थिर है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से युवक को गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार रात को पुलिस ने एक मंदिर से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। वह वहां नशे की हालत में था। जांच के बाद पुलिस ने बताया कि आरोपी फिलहाल कोई काम नहीं करता है।

ये भी पढ़ें : दिल्ली में नाबालिगों ने किया 5 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म

गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल दुष्कर्म की शिकार बनी मासूम से सफदरजंग अस्पताल जाकर मिली थीं। इसके बाद उन्होंने कहा कि खाने का सामान दिलाने के बहाने सुनसान जगह ले जाकर 24 साल के व्यक्ति ने उससे डरा देने वाली बर्बरता से दुष्कर्म किया। बच्ची के शरीर पर जगह-जगह काटने के निशान हैं। चार घंटे बाद एक आदमी ने बच्ची को खून से लथपथ देखकर 181 महिला हेल्पलाइन पर फोन किया।


बता दें कि, सफदरजंग अस्पताल में बच्ची की हालत बहुत गंभीर है। बच्ची का आपरेशन करना पड़ा है। उसके पूरे शरीर पर काटने के भी कई निशान हैं। आयोग की टीम ने बच्ची को डीडीयू अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां से हालत गंभीर देख उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया। इस मामले में द्वारका सेक्टर 23 थाने में एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि आयोग पीड़िता को आर्थिक और कानूनी मदद देगा। आयोग ने परिवार की सहायता के लिए आर्थिक मदद की अपील की है। इसके लिए हेल्पलाइन 181 या [email protected] पर संपर्क किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : दिल्ली : पिता से डांट के बाद किशोर ने आत्महत्या की

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)