आयुष्मान भारत के नाम पर फर्जी वेबसाइट बनाकर 4200 लोगों को ठगा, ऐसे पकड़ा गया

आयुष्मान भारत के नाम पर फर्जी वेबसाइट बनाकर 4200 लोगों को ठगा, ऐसे पकड़ा गया

राजधानी दिल्ली में फेक वेबसाइट के जरिए आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) के नाम पर चल रहे फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ हुआ है। इसमें नौकरी दिलाने के नाम पर 4 हजार से ज्यादा लोगों को ठग लिया गया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक महिला भी शामिल है।

कैसे करते थे ठगी

मिली जानकारी के मुताबिक, इन लोगों ने आयुष्मान भारत योजना (ayushmanbharatyojna) के नाम पर फर्जी वेबसाइट बना रखी थी। वेबसाइट पर इन्होंने वॉर्ड बॉय, नर्स आदि की भर्ती का फर्जी विज्ञापन देकर मेडिकल फील्ड में हजारों जॉब ऑफर करने का झांसा दे रहा था। वेबसाइट पर छह राज्यों- उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और बिहार में 5116 रिक्तियों के लिए विज्ञापन निकाले गए। ठगों ने रजिस्ट्रेशन के नाम पर लोगों से 300 से 500 रुपये ऐंठ लिए। ये गिरोह देशभर में हजारों लोगों से ठगी कर चुका है।


दरअसल, 26 मई को दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की साइबर यूनिट को शिकायत मिली थी कि कुछ लोग सरकारी वेबसाइट के नाम से मिलती-जुलती फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों को नौकरियां देने का वादा कर रहे हैं। इसके बाद स्पेशल सेल इस नेटवर्क तक पहुंची।

रिपोर्ट के अनुसार, इन लोगों ने 4000 से ज्यादा लोगों को नौकरी के नाम पर चूना लगाया है। इस गैंग का मास्टरमाइंड उमेश नाम का शख्स है जो उत्तर प्रदेश का रहने वाला है और उसके साथी रजत, गौरव, सीमा रानी हैं। पकड़े गए चार लोगों में वेबसाइट डिजाइनर भी है।

आरोपी गौरव, जो पहले एक मल्टिलेवल मार्केटिंग स्कीम से जुड़ा था, उसने पश्चिमी यूपी के गांवों में जनसभाओं का आयोजन शुरू किया ताकि लोगों को धोखाधड़ी की योजना में फंसाया जा सके। लोगों को शुरुआती रकम का भुगतान करके नौकरी के ऑफर के लिए पंजीकरण कराने के लिए प्रेरित किया जा सके। इनके पास से पुलिस को 1 लैपटॉप, 4 फोन और एटीएम कार्ड बरामद हुए हैं।



अब दिल्ली में भी मिलेगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ, मनीष सिसोदिया ने किया ऐलान

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)