दिल्ली में शुरू हुआ देश का पहला प्लाज्मा बैंक, जानें- कौन लोग और कैसे कर सकते हैं दान?

  • Follow Newsd Hindi On  
Delhi: स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं हैं अभिभावक

दिल्ली (Delhi) में देश का पहला ‘प्लाज्मा बैंक’ शुरु हो गया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने गुरुवार (2 जुलाई) को इसकी शुरुआत की। इस दौरान केजरीवाल ने कोरोना संक्रमण को मात दे चुके लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की है। ये प्लाज्मा बैंक (Plasma Bank) दिल्ली स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बाइलरी साइंस (ILBS) में बना है।

बता दें, दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और मौत के आंकड़ों के बीच प्लाज्मा थैरेपी से मरीजों का इलाज करने का प्रयोग हुआ है। सीएम केजरीवाल ने पहले भी बताया था कि राजधानी में इसके सकारात्मक परिणाम दिखे थे और इसको बढ़ाने के लिए ही प्लाज्मा बैंक की शुरुआत करने का फैसला किया था, ताकि किसी भी कोरोना पॉज़िटिव मरीज को इसके लिए परेशान न होना पड़े।


कौन कर सकता है प्लाज्मा दान?

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बीते सोमवार को ही बताया था कि राजधानी दिल्ली में देश का पहला प्लाज्मा बैंक बनेगा। अब इसकी शुरुआत के साथ ही सीएम ने यह भी बताया है कि किस उम्र के लोग इसके लिए योग्य हैं। इसके साथ ही केजरीवाल ने यह भी बताया कि कौन लोग प्लाज्मा दान कर सकते हैं।

केजरीवाल ने कहा, “अगर आप कोरोना से उबर चुके हैं और आपकी उम्र 18 से 60 साल के बीच है और आपका वजन 50 किलो से ज्यादा है, तो आप कोरोना मरीजों के लिए प्लाज्मा दान कर सकते हैं। लेकिन जिन महिलाओं ने हाल ही में बच्चे को जन्म दिया है या वो लोग जिनमें कोमॉर्बिडिटी (एक साथ कई बीमारियों से ग्रस्त) है, वो प्लाज्मा दान नहीं कर सकते।”

इन नंबरों पर किया जा सकता है संपर्क

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण से उबर चुके लोगों को प्रेरित करते हुए कहा कि इस काम में आगे आने वालों की मदद के लिए सरकार भी साथ आएगी। केजरीवाल ने इसके लिए विशेष नंबर जारी करते हुए कहा, “अगर आप योग्य हैं और प्लाज्मा देना चाहते हैं, तो आप 1031 नंबर पर कॉल कर सकते हैं या आप 8800007722 नंबर पर व्हाट्सएप मैसेज कर सकते हैं। हमारे डॉक्टर आपसे संपर्क करेंगे और आपकी योग्यता की पुष्टि करेंगे।


गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले 89,802 तक पहुंच चुके हैं। इनमें से 2,803 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि लगभग 60 हजार मरीज ठीक हो चुके हैं। राजधानी में अभी भी कोरोना के 27 हजार से ज्यादा सक्रिय मामले हैं।


दिल्ली: सीएम केजरीवाल बोले- कोरोना धर्म देखकर नहीं होता और प्लाज्मा भी धर्म देखकर जान नहीं बचाएगा

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)