दिल्ली: जब दंगों के बीच चांदबाग इलाके में मुसलमानों ने की मंदिरों की हिफाजत, देखें वीडियो

दिल्ली: जब दंगों के बीच चांदबाग इलाके में मुसलमानों ने की मंदिरों की हिफाजत, देखें वीडियो

दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पिछले तीन दिनों से भड़की हिंसा में कम-से-कम 20 लोगों की मौत हो गई है। दिल्ली पुलिस के शाहदारा एसीपी अमित शर्मा समेत दर्जनों पुलिसकर्मी घायल हैं। कई इलाकों में तनाव की स्थिति कायम है और अभी भी जहाँ-तहाँ से हिंसा व उपद्रव की ख़बरें आ रही हैं। इसी बीच कुछ ऐसी घटनाएं भी सामने आई हैं, जिससे इस नाजुक हालात में भाईचारे की बुनियाद को दरकने नहीं दिया। बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार भजनपुरा के चांदबाग इलाके में दंगे के दौरान स्थानीय मुसलमानों ने हिंदुओं के मंदिर को नुकसान पहुंचाने से बचाया।

दरअसल, भजनपुरा के चांदबाग इलाके में सोमवार को हिंसा हुई थी। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थक और विरोधी आमने-सामने आ गए। दोनों ओर से जमकर पत्थरबाजी हुई और दंगे भड़क गए थे। इस दौरान इलाके में हालात बेकाबू हो गए थे। बीबीसी के वीडियो रिपोर्ट में स्थानीय निवासी राजेंद्र कुमार मिश्रा बताते हैं, “मुझे इस कॉलोनी में रहते हुए 40 साल हो गए हैं। लेकिन पिछले दिनों यहाँ जो कुछ हुआ, ऐसा पहले कभी नहीं देखा था।” उन्होंने कहा कि चाँदबाग़ इलाके में जो दंगा-फसाद हुआ उसमें बाहरी लोग शामिल थे। इस इलाके में 70 प्रतिशत मुस्लिम आबादी रहती है और 30 फीसदी लोग हिंदू हैं। हमलोगों के बीच इतना भाईचारा है कि सारे पर्व साथ मिलकर मनाते आए हैं। हमारे मोहल्ले में 3 मंदिर हैं और किसी का कुछ भी नुकसान नहीं हुआ है।


एक अन्य निवासी मोहन सिंह तोमर ने भी कहा कि चाँदबाग़ में मुसलमानों ने खड़े होकर मंदिरों की हिफाजत की और किसी को कोई नुकसान पहुँचने नहीं दिया। उन्होंने कहा कि आपसी भाइचारे की वजह से ही हम सब सुरक्षित हैं।

देखें वीडियो:

इधर, दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में हिंसा भड़कने के चार दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है। बुधवार को पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि शांति बहाली की कोशिश की जा रही है। पुलिस और एजेंसियों की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं। मैं दिल्ली की अपनी बहनों और भाइयों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करता हूं। यह महत्वपूर्ण है कि माहौल शांत हो और सामान्य स्थिति जल्द से जल्द बहाल हो।

दिल्ली: हिंसाग्रस्त चांद बाग में मिला खुफिया विभाग के अधिकारी का शव, पथराव में हत्या का आरोप

बता दें कि दिल्ली हाई कोर्ट में बीजेपी नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई चल रही है। इस याचिका में कपिल मिश्रा, प्रवेश वर्मा समेत कई बीजेपी नेताओं पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई है। इस दौरान हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाया और कपिल मिश्रा का भड़काऊ भाषण देने वाला वीडियो देखा। दिल्ली हाई कोर्ट में दाखिल याचिका में मृतकों को मुआवजा देने और न्यायिक जांच की भी मांग की गई है।


..जब दिल्ली पुलिस ने गोकुलपुरी से मंगलवार रात बचाया 80 परिवार

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)