महाराजगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र, बिहार: वर्तमान सांसद, उम्मीदवार, मतदान तिथि और चुनाव परिणाम

महाराजगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र, बिहार: वर्तमान सांसद, उम्मीदवार, मतदान तिथि और चुनाव परिणाम

बिहार का महाराजगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र एकबार फिर से नया सांसद चुनने को तैयार है। 2014 के लोकसभा चुनाव में महाराजगंज सीट से बीजेपी के जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के दबंग नेता प्रभुनाथ सिंह को मात दी। जदयू के बाहुबली नेता मनोरंजन सिंह उर्फ धूमल सिंह तीसरे नंबर पर रहे। इस बार बीजेपी ने फिर से जनार्दन सिंह सिग्रीवाल पर भरोसा जताया है। वहीं, महागठबंधन खेमे से आरजेडी ने प्रभुनाथ सिंह के बेटे रणधीर सिंह को उम्मीदवार बनाया है। साधु यादव बीएसपी के टिकट पर मैदान में हैं।

महाराजगंज लोकसभा सीट पर छठे चरण में 12 मई को वोट डाले जाने हैं।


महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र सारणऔर सीवान जिलों के कई हिस्सों को मिलाकर बना है। यह उत्तर प्रदेश की सीमा से सटा इलाका है। गंडक व सरयू नदियां के किनारे बसा यह लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र एक ओर गोपालगंज जिले से घिरा है तो दूसरी ओर बलिया जिले के भूभाग से। महाराजगंज लोकसभा सीट को बिहार का दूसरा चित्तौड़गढ़ कहा जाता है। यहां की सबसे ज्यादा आबादी राजपूतों की है। यह क्षेत्र कृषि पर निर्भर है।

महाराजगंज लोकसभा सीट का इतिहास

1957 में यह लोकसभा क्षेत्र बना। उस वक्त कांग्रेस के महेंद्र नाथ सिंह सांसद हुए थे। पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर यहां से 1989 में रिकार्ड मतों से चुनाव जीते थे। चंद्रशेखर अपनी परंपरागत सीट यूपी के बलिया व महाराजगंज दोनों सीटों से वे चुनाव जीते थे। महाराजगंज में उन्होंने कांग्रेस के निवर्तमान सांसद कृष्ण प्रताप सिंह उर्फ नन्हे बाबू को तीन लाख से अधिक वोटों से पराजित किया। लेकिन चुनाव जीतने के बाद उन्होंने इस सीट छोड़ दी। वे बलिया के सांसद रहे और उसी दौर में प्रधानमंत्री की कुर्सी पर भी काबिज हुए। उनके इस्तीफा देने के बाद रामबहादुर सिंह सांसद चुने गए। यहां से लगातार तीन बार और कुल चार बार प्रभुनाथ सिंह सांसद रहे हैं।

2009 के चुनाव में जेडीयू के टिकट पर लड़ रहे बाहुबली प्रभुनाथ सिंह को आरजेडी के उमाशंकर सिंह ने हरा दिया। 2013 में उमाशंकर सिंह के निधन के बाद महाराजगंज सीट पर उपचुनाव हुआ। इस बार प्रभुनाथ सिंह आरजेडी के खेमे में आ गए थे और उपचुनाव जीतने में सफल रहे। 2014 में भी प्रभुनाथ सिंह आररजेडी के टिकट पर इस सीट से उतरे लेकिन बेहद ही साधारण पृष्ठभूमि से आने वाले जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने प्रभुनाथ सिंह को मोदी लहर के सहारे मात दे दी।


2014 लोकसभा चुनाव

16वीं लोकसभा के लिए 2014 में हुए चुनाव में महाराजगंज सीट से बीजेपी के जनार्दन सिंह सिग्रीवाल जीते। उन्होंने दबंग नेता प्रभुनाथ सिंह को मात दी। सिग्रीवाल को 3,20,753 वोट मिले थे, जबकि प्रभुनाथ सिंह को 2,82,338 वोट। तीसरे नंबर पर रहे एक और बाहुबली नेता जेडीयू के मनोरंजन सिंह उर्फ धूमल सिंह जिन्हें 1,49,483 वोट मिले।

महाराजगंज संसदीय सीट का समीकरण

महाराजगंज संसदीय सीट के तहत छह विधान सभा क्षेत्र आते हैं- गोरियाकोठी, महाराजगंज, बनियापुर, मांझी, एकमा, और तरैया। 6 सीटों में से 4 एकमा, मांझी, बनियापुर और तरैया सारण जिले में आते हैं और बाकी के दो गोरियाकोठी और महाराजगंज सीवान जिले में। 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में इन 6 सीटों में से 3 आरजेडी ने, 2 सीट जेडीयू ने और 1 सीट कांग्रेस ने जीती। प्रभुनाथ सिंह के जेडीयू छोड़ आरजेडी में जाने के कारण बीजेपी-जेडीयू को इस इलाके में काफी नुकसान उठाना पड़ा।

इस लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की कुल संख्या 1,312,219 है। महाराजगंज क्षेत्र में राजपूत समुदाय की अच्छी खासी आबादी है। इसके अलावा भूमिहार और यादव समुदाय के लोग भी काफी संख्या में मौजूद हैं। राजपूत बहुल इस सीट पर मुस्लिम-यादव समीकरण खेल बना और बिगाड़ सकता है।

इस सीट पर राजपूत समुदाय से आने वाले बाहुबली नेता प्रभुनाथ सिंह की अच्छी पकड़ मानी जाती है। वे यहां से 4 बार सांसद रहे हैं। पहले जनता दल, फिर समता पार्टी और बाद में आरजेडी के टिकट पर यहां से सांसद चुने गए। अभी प्रभुनाथ सिंह हत्या केस में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं। प्रभुनाथ सिंह के एक भाई केदारनाथ सिंह अभी विधायक हैं जबकि बेटे रणधीर सिंह इस सीट से चुनावी मैदान में हैं।

निवर्तमान सांसद: जनार्दन सिंह सिग्रीवाल

लोकसभा चुनाव 2014 के नतीजे

जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, बीजेपी – 3,20,753
प्रभुनाथ सिंह, राजद –  2,82,338
मनोरंजन सिंह, जेडीयू – 1,49,483

2019 लोकसभा चुनाव के लिए प्रमुख उम्मीदवार

  • जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, बीजेपी/एनडीए
  • रणधीर कुमार सिंह, राजद/महागठबंधन
  • साधु यादव, बहुजन समाज पार्टी

छठे चरण के चुनाव लिए महत्वपूर्ण तिथियां

अधिसूचना  जारी 10 अप्रैल
नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 16 अप्रैल
नामांकन पत्र की जांच 23 अप्रैल
नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 24 अप्रैल
मतदान की तारीख 12 मई
मतगणना की तारीख 23 मई

लोकसभा चुनाव 2019: छठे चरण में 12 मई को इन सीटों पर होगी वोटिंग, देखें राज्यवार सूची

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)