शिवहर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र, बिहार: वर्तमान सांसद, उम्मीदवार, मतदान तिथि और चुनाव परिणाम

शिवहर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र, बिहार: वर्तमान सांसद, उम्मीदवार, मतदान तिथि और चुनाव परिणाम

बिहार का शिवहर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र एकबार फिर से नया सांसद चुनने को तैयार है। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की उम्मीदवार रमा देवी ने आरजेडी के मोहम्मद अवनारुल हक को हराया। जदयू के शाहिद अली खान तीसरे स्थान पर रहे। जबकि इस सीट से पूर्व सांसद और जेल में सजा काट रहे बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद चौथे स्थान पर रहीं। इस बार बीजेपी ने फिर से रमा देवी पर दांव आजमाया है। महागठबंधन खेमे से राजद ने सैयद फैजल अली को टिकट दिया है। वहीं एनसीपी ने शमीम आलम को मैदान में उतारा है।

शिवहर लोकसभा सीट पर छठे चरण में 12 मई को मतदान होने हैं।


जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, शिवहर भगवान शिव की नगरी है। यहां शिवालयों की लंबी श्रृंखला है। शिवहर क्षेत्र पहले सीतामढ़ी जिले का हिस्सा था। 1994 में इसे स्वतंत्र जिला घोषित किया गया। जिला मुख्यालय होने के कारण यहीं पर सभी सरकारी विभागों के बड़े दफ्तर हैं। यह इलाका बागमती और बूढ़ी गंडक नदी से घिरा हुआ है। त्रेता युग में भगवान राम की पत्नी देवी सीता का जन्म इस क्षेत्र के निकट हुआ था। महाजनपद काल में यह वैशाली के बज्जिसंघ फिर मगध साम्राज्य का हिस्सा बना। 13वीं सदी में मुस्लिम शासन आरंभ होने तक इस क्षेत्र में मिथिला के शासकों ने शासन किया।

शिवहर जिले को क्रांतिकारियों की भूमि होने का भी गौरव प्राप्त है। आजादी की लड़ाई के दौरान 1942 में तरियानी छपरा के सपूतों की गोरे सिपाहियों से भिड़ंत हो गई थी। सभी शहीद हो गए थे। शहीदों के नाम स्मारक पर अंकित हैं। महज पांच प्रखंडों को मिलाकर शिवहर को जिला बनाने का श्रेय रघुनाथ झा को जाता है।

शिवहर लोकसभा सीट का इतिहास

आजादी के बाद देश में जब पहला चुनाव हुआ तो इस सीट का नाम था मुजफ्फरपुर नॉर्थ-वेस्ट सीट। शिवहर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व स्वतंत्रता सेनानी ठाकुर जुगल किशोर सिन्हा जैसी हस्तियों ने भी किया है। जुगल किशोर सिन्हा को भारत में सहकारी आंदोलन के जनक के रूप में जाना जाता है। उनकी पत्नी राम दुलारी सिन्हा भी स्वतंत्रता सेनानी थीं और इस सीट का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। वे केंद्रीय मंत्री और गवर्नर भी रही थीं। वे बिहार की पहली महिला पोस्ट ग्रेजुएट थीं। इसके अलावा आनंद मोहन और रमा देवी भी चर्चित नाम हैं।


शिवहर के पूर्व सांसद आनंद मोहन को एक जमाने में उत्तरी बिहार के कोसी क्षेत्र का बेताज बादशाह कहा जाता था। स्वतंत्रता सेनानी रामबहादुर सिंह के परिवार से आने वाले आनंद मोहन ने 1993 में बिहार पीपुल्स पार्टी की स्थापना की। आनंद मोहन ने 1996 के चुनाव में समता पार्टी के टिकट पर चुनाव जीता और फिर 1998 में ऑल इंडिया राष्ट्रीय जनता पाार्टी के टिकट पर जीत की कहानी दोहराई। लेकिन गोपालगंज के तत्कालीन जिला मजिस्ट्रेट जी. कृष्णैया की हत्या के लिए लोगों को भड़काने और बढ़ावा देने के आरोपों में बाद में आनंद मोहन को उम्रकैद की सजा हो गई। आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद भी 1994 में वैशाली लोकसभा सीट के उपचुनाव में जीतकर सांसद बनीं।

शिवहर सीट से 1999 में आरजेडी के मोहम्मद अनवारुल हक ने जीत हासिल की। 2004 के चुनाव में भी आरजेडी के सीताराम सिंह ने इस सीट से जीत दर्ज की। 2009 में बीजेपी ने इस सीट से रमा देवी को उतारा। रमा देवी ने 2009 और 2014 के चुनाव में शिवहर लोकसभा सीट से जीत हासिल कर यहाँ की जनता का प्रतिनिधित्व किया। रमा देवी आरजेडी के पूर्व विधायक और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री बृज बिहारी प्रसाद की पत्नी हैं। बृज बिहारी प्रसाद की हत्या 3 जून, 1998 को आईजीआईएमएस के कैंपस में कर दी गई थी जहां वे इलाज के लिए गए थे। बृजबिहारी प्रसाद भी खुद बाहुबली नेता थे और जातीय वर्चस्व की लड़ाई में उनका नाम आता रहता था।

2014 का लोकसभा चुनाव

2014 में 16वीं लोकसभा के लिए हुए चुनाव में शिवहर सीट बीजेपी की झोली में गई। बीजेपी प्रत्याशी रमा देवी को इस चुनाव में 3,72,506 वोट हासिल हुए। वहीं आरजेडी के मोहम्मद अवनारुल हक को 2,36,267 वोट मिले। जदयू के शाहिद अली खान 79,108 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे, जबकि इस सीट से पूर्व सांसद और जेल में सजा काट रहे बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद को 46,008 वोट मिले और वे चौथे स्थान पर रहीं।

शिवहर संसदीय सीट का समीकरण

शिवहर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत विधानसभा की 6 सीटें आती हैं- मधुबन, चिरैया, ढाका, शिवहर, रिगा और बेलसंड। 2015 के विधानसभा चुनाव में इन 6 सीटों में से 2-2 सीटें बीजेपी और जेडीयू को मिली थीं,जबकि 1-1 सीट कांग्रेस और आरजेडी के हिस्से आई थी। शिवहर क्षेत्र को राजपूत बहुल सीट माना जाता है। यहां की राजनीति पर राजपूत समाज का खासा प्रभाव है और चुनावी नतीजों में इसका स्पष्ट असर दिखता है। इस संसदीय क्षेत्र में वोटरों की कुल संख्या 1,269,056 है। इसमें 591,390 महिला वोटर और 677,666 पुरुष मतदाता हैं।

निवर्तमान सांसद: रमा देवी

लोकसभा चुनाव 2014 के नतीजे

रमा देवी, बीजेपी – 3,72,506
मोहम्मद अनवारुल हक, राजद –  2,36,267
शाहिद अली खान, जेडीयू – 79,108

2019 लोकसभा चुनाव के लिए प्रमुख उम्मीदवार

  • रमा देवी, बीजेपी/एनडीए
  • सैयद फैजल अली, राजद/महागठबंधन
  • शमीम आलम, एनसीपी

छठे चरण के चुनाव लिए महत्वपूर्ण तिथियां

अधिसूचना  जारी 10 अप्रैल
नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 16 अप्रैल
नामांकन पत्र की जांच 23 अप्रैल
नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 24 अप्रैल
मतदान की तारीख 12 मई
मतगणना की तारीख 23 मई

लोकसभा चुनाव 2019: छठे चरण में 12 मई को इन सीटों पर होगी वोटिंग, देखें राज्यवार सूची

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)