फैक्ट चेक: मटन-चिकन खाने से फैलता है कोरोना वायरस? जानें क्या है इस दावे की हकीकत

फैक्ट चेक: मटन-चिकन खाने से फैलता है कोरोना वायरस? जानें क्या है इस दावे की हकीकत

कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। लोगों में इस जानलेवा वायरस का खौफ साफ देखा जा सकता है। मगर कोरोना वायरस को लेकर मचे दहशत में अफवाहों का भी बड़ा हाथ है। सोशल मीडिया पर फैले तरह-तरह के अफवाहों ने लोगों को और डरा दिया है। लोग अब उन खाने-पीने की चीजों से भी दूर भाग रहे हैं, जिसका कोरोना वायरस से कोई वास्ता नहीं है। अब सोशल मीडिया के साथ-साथ अब लोगों के बीच भी यह बात भी तेजी से फैल रही है कि मटन-चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है। इस दावे के चलते कई जगह चिकन के दाम में भारी गिरावट देखी जा रही है। फिर भी लोग इसे खाने से घबरा रहे हैं। अगर आप भी अब तक यही मानते हैं तो आपको सच जानने की जरूरत है। हम इस दावे का फैक्ट चेक करने जा रहे हैं।

क्या है इस दावे की हकीकत

सोशल मीडिया पर कई ऐसे पोस्ट घूम रहे हैं, जिनमें दावा किया गया है कि बकरे के मीट में कोरोना वायरस पाया गया है। अंडा, चिकन और मछली खाने से भी कोरोना वायरस फैलता है। मगर, प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने अपने फैक्ट चेक में पाया है कि मटन खाने से कोरोना वायरस नहीं फैलता है। पीआईबी ने यह भी स्पष्ट किया है कि मच्छरों के काटने से भी कोरोना वायरस नहीं फैलता है।


केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने भी ट्विटर पर इस बात की तस्दीक की है कि मटन ,चिकन, अंडा और मछली खाने से कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं होता है।

इसके साथ ही पीआईबी ने कोरोना वायरस पर कुछ सही जानकारी साझा किया है, जिसे हम सबको समझने की जरूरत है। ताकि कोरोना वायरस पर पैनिक होने की बजाय हम इसके सही बचाव पर ध्यान देकर इससे संक्रमित होने से बच सकते हैं। बता दें कि कोरोना वायरस भले ही घातक है, मगर इसके बचाव और सावधानियां बरतने से इसके संक्रमण से बचा जा सकता है।

-हैंड सैनिटाइजर एकमात्र समाधान नहीं हैं
-मांस, मुर्गी, मछली और अंडे का सेवन से #COVID19 नहीं होता है
-पालतू जानवर वायरस नहीं फैलाते हैं

बता दें कि देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस संक्रमण के 10 नए मामले सामने आने के बाद इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 147 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इन मामलों में दिल्ली, कर्नाटक और महाराष्ट्र में जान गंवाने वाले तीन लोग और 25 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। मंत्रालय ने बताया कि संक्रमित लोगों के संपर्क में आए 5,700 से अधिक लोगों पर करीबी नजर रखी जा रही है।


Coronavirus: वाराणसी में पोस्टर लगे, ‘ओ कोरोना, कल आना’

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)