Fact Check: AAP के 40 विधायकों के खिलाफ रेप का मामला? गलत है JDU नेता अजय आलोक का ये दावा

  • Follow Newsd Hindi On  
Fact Check: AAP के 40 विधायकों के खिलाफ रेप का मामला? गलत है JDU नेता अजय आलोक का ये दावा

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जबरदस्त जीत हुई है। राजनीतिक पंडित आप की इस जीत का विश्लेषण कर रहे हैं। आप की जीत के फ़ौरन बाद पीएम मोदी समेत तमाम विपक्षी दलों के नेताओं ने सामान्य शिष्टाचार निभाते हुए अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी को बधाई दी। हालाँकि, कुछ नेता ऐसे भी हैं जिन्होंने अगले दिन से ही आम आदमी पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इन नेताओं की सूची में एक नाम है डॉ. अजय आलोक का। अजय आलोक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के नेता हैं और पूर्व में पार्टी के प्रवक्ता के तौर पर न्यूज़ चैनलों के डिबेट में आते रहे हैं। अजय आलोक ने ट्विटर पर आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए दावा किया है कि पार्टी के 62 नवनिर्वाचित विधायकों में से 40 के ऊपर रेप के आरोप हैं। हम उनके इस दावे की पड़ताल कर रहे हैं।

अजय आलोक का दावा- AAP के 40 विधायक रेप के आरोपी

अजय आलोक ने गुरुवार शाम को एक ट्वीट में लिखा, “62 में 40 रेप के आरोपी , उनके समर्थन से अरविंद केजरीवाल जी मुख्यमंत्री, वाक़ई नई राजनीति की शुरुआत हुई है। दिल्ली को रेप कैपिटल कहने वाले आप लोगों ने तो RJD को पीछे कर दिया, लालू यादव भी ख़ुश होंगे आज कि कोई तो आगे निकला, समझ आता है कि निर्भया कांड क्यों होता है जनता ??”



अजय आलोक के इस ट्वीट को साढ़े 6 हजार से ज्यादा लोगों ने रीट्वीट और 19 हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है।

क्या है जदयू नेता अजय आलोक के इस दावे की हकीकत

अजय आलोक के इस दावे की पड़ताल के लिए हमने एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफार्म (ADR) की एक रिपोर्ट का सहारा लिया है। आपको बता दें कि ADR चुनाव सुधार के लिए काम करने वाली एक जानी-मानी गैर-सरकारी संस्था है। ADR के रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली विधानसभा में चुने गए 70 में से 37 विधायकों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले लं​बित हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) ने विधायकों के हलफनामे का अध्ययन करके यह जानकारी दी है।

सिर्फ 1 विधायक के खिलाफ रेप का मामला

ADR का अध्ययन बताता है कि दिल्ली के 70 में से 43 नव नियुक्त विधायक आपराधिक मामलों का सामना कर रहे हैं। इन 43 विधायकों में से 37 ने बताया है कि उनके खिलाफ बलात्कार, हत्या के प्रयास और महिलाओं के खिलाफ अपराध जैसे गंभीर आपराधिक मामले लंबित हैं। हालाँकि, 37 विधायकों में से 13 ने महिलाओं के खिलाफ अपराधों से संबंधित मामलों की घोषणा की है। इन 13 में से सिर्फ एक ने बताया है कि उसके खिलाफ बलात्कार से संबंधित मामला लंबित है।

AAP के 33 और BJP के 4 विधायकों पर गंभीर आपराधिक मामले

एडीआर की रिपोर्ट में बताया गया है कि आम आदमी पार्टी के 62 में से 33 विधायकों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसी तरह भाजपा के आ‍ठ में से चार विधायकों पर भी संगीन धाराओं में मामले दर्ज हैं। आप के रिठाला से विधायक मोहिंदर गोयल ने चुनावी हलफनामें में अपने ऊपर भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (बलात्कार) का मामला दर्ज होने की जानकारी दी है।

इसके ‍अलावा, आप के अमानतुल्ला खान, दिनेश मोहनिया, प्रकाश, जरनैल सिंह और सोमनाथ भारती पर भारतीय दंड संहिता की धारा 354 के तहत महिलाओं के साथ छेड़छाड़ या उत्पीड़न के आरोप हैं। वहीं भाजपा के अभय वर्मा और अनिल वाजपेयी के ऊपर भी धारा 354 अंतर्गत मामला दर्ज होने की जानकारी दी गई है।

निष्कर्ष: ADR के इस रिपोर्ट के आधार पर कहा जा सकता है कि अजय आलोक का दावा पूरी तरह भ्रामक और गलत है।

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी के लीगल सेल ने इस ट्वीट के लिए अजय आलोक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की बात भी कही है।


Delhi Election Result 2020: दिल्ली विधानसभा में आठ बिहारी नेताओं की इंट्री, देखें पूरी लिस्ट

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)