गंभीर रूप से प्रदूषित है दिल्ली की एक चौथाई हवा

  • Follow Newsd Hindi On  
दिल्ली की प्रदूषित हवा में पराली का धुआं सबसे ज्यादा

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली के 36 प्रदूषण निगरानी केंद्रों में से नौ ने शुक्रवार को ‘गंभीर’ वायु गुणवत्ता सूचकांक दर्ज किया है।

प्रदूषण निगरानी एजेंसी के अनुसार, उत्तरी दिल्ली के अलीपुर क्षेत्र में एक्यूआई 447 था, जो ‘गंभीर’ श्रेणी में आता है, इसके बाद शदीपुर, वजीरपुर, जहागीरपुरी, मुंडका, पटपड़गंज, आनंद विहार, बवाना, और विवेक विहार का स्थान है।


इनके अलावा 26 प्रदूषण निगरानी स्टेशन ने ‘बहुत खराब’ सूचकांक दर्ज किया और एक ने मध्यम एयर क्वालिटी इंडेक्स दर्ज किया।

आईएमडी में पर्यावरण निगरानी और अनुसंधान केंद्र के प्रमुख विजय कुमार सोनू ने आईएएनएस को बताया, “शांत हवा के कारण प्रदूषकों का प्रसार नहीं होता है। हालांकि 26 अक्टूबर से हवा की गति में तेजी आएगी और संभवत एक्यूआई में सुधार होगा।”

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तत्वावधान में आने वाली सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च ने यह भी कहा कि दिल्ली में वायुगुणवत्ता खराब होने का सबसे प्रमुख कारक बेहद शांत सतही वायु है।


पूवार्नुमान एजेंसी ने आगे कहा, “अत्यधिक शांत सतही हवा की स्थिति दिल्ली क्षेत्र पर हावी है और अगले दो दिनों तक इसके जारी रहने का अनुमान है। इससे कम वेंटिलेशन की स्थिति बनेगी। अगले 2 दिनों के लिए एक्यूआई के और बिगड़ने की भविष्यवाणी की गई है।”

–आईएएनएस

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)