बॉलीवुड के ‘सबसे बड़े खलनायक’ अमरीश पुरी की 87वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

आज बॉलीवुड के बेहतरीन एक्टर अमरीश पुरी की जन्मतिथि है। गूगल ने डूडल बनाकर उनको याद किया है। वह अपने नकारात्मक किरदारों के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपनी एक्टिंग से, फिल्मों में विलेन के किरदारों को हीरो जितनी ही पहचान दिलाने में अहम भूमिका निभाई। मरीश पुरी भारतीय सिनेमा के सबसे प्रतिभाशाली अभिनेताओं में से एक थे।

अमरीश पुरी का जन्म 22 जून 1932 को पंजाब राज्य के जालंधर में हुआ था। बॉलीवुड में उन्‍होंने  1971 में ‘रेशमा और शेरा’ से डेब्‍यू किया था। दर्शकों को अमरीश पुरी का निगेटिव किरदार भी बहुत भाता था। मिस्टर इंडिया, शहंशाह, करण-अर्जुन, कोयला, दिलजले, विश्वात्मा, राम-लखन, तहलका, गदर, नायक, दामिनी जैसी फिल्मों में वह निगेटिव किरदार में थे, लेकिन इन फिल्मों को सुपरहिट बनाने में अमरीश पुरी का बड़ा योगदान रहा था।


अमरीश पुरी ने अपने 35 साल के फिल्मी करियर में लगभग 400 फिल्मों में काम किया। उन्होंने फिल्मों में हर तरह के किरदार निभाए और हर किरदार में वह अपनी दमदार एक्टिंग से सभी का दिल जीत लेते थे। लेकिन उनकी पहचान एक विलेन के तौर पर बनी, क्योंकि उनके द्वारा निभाए गए नकारात्मक रोल फिल्मों में जान डाल देते थे। उन्होंने अपने किरदारों को कुछ इस तरह जीवंत किया कि लोग उन्हें बॉलीवुड का सबसे बड़ा विलेन मानने लगे थे। अपनी दमदार एक्टिंग के लिए उन्होंने कई अवार्ड्स भी अपने नाम किये। आज भी उनके किरदार सभी के मनपसंद हैं। उनके डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)