झारखंड: ‘ट्रिलियन में कितने जीरो…’ से सुर्खियों में आए गौरव वल्लभ को कांग्रेस ने दी टिकट, सीएम रघुबर दास को देंगे चुनौती

झारखंड: 'ट्रिलियन में कितने जीरो...' से सुर्खियों में आए गौरव वल्लभ को कांग्रेस ने दी टिकट, सीएम रघुबर दास को देंगे चुनौती

झारखंड में चुनावी मुकाबला रोमांचक होता जा रहा है। कांग्रेस ने झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ अपने प्रवक्ता गौरव बल्लभ को चुनावी अखाड़े में उतार दिया है। पार्टी ने शनिवार देर रात गौरव वल्लभ को जमशेदपुर पूर्व से टिकट देने का ऐलान किया है। बता दें कि टीवी डिबेट में पूरी मजबूती से कांग्रेस का पक्ष रखने वाले गौरव वल्लभ तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा से पूछा था कि ट्रिलियन में कितने जीरो होते हैं। शनिवार देर रात कांग्रेस की चुनाव समिति ने जमशेदपुर पूर्व से उनका नाम फाइनल किया। न्यूज्ड हिंदी ने पहले ही बता दिया था कि गौरव वल्लभ झारखंड सीएम के खिलाफ कांग्रेस के उम्मीदवार हो सकते हैं।

झारखंड: सीएम रघुबर दास के खिलाफ गौरव वल्लभ हो सकते हैं कांग्रेस उम्मीदवार

जमशेदपुर से जुड़े रहे हैं गौरव वल्लभ

कांग्रेस के तेज तर्रार प्रवक्ता गौरव वल्लभ का जमशेदपुर से पुराना नाता रहा है। वह प्रदेश के प्रतिष्ठित मैनेजमेंट संस्थान XLRI में प्रोफेसर रह चुके हैं। XLRI के अलावा गौरव वल्लभ देश के कई दूसरे नामी-गिरामी मैनेजमेंट संस्थानों में छात्रों को पढ़ा चुके हैं।


टिकट के लिए जताया आभार

गौरव वल्लभ को टिकट मिलने के बाद झारखंड की जमशेदपुर पूर्व सीट राज्य की सबसे वीआईपी सीट बन गई है। उन्होंने कहा कि वे पार्टी के भरोसे पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे। उन्होंने ट्वीट किया, “कांग्रेस पार्टी ने मुझे झारखंड के जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट से सीएम रघुवर दास जी के खिलाफ उम्मीदवार घोषित किया है, मैं पार्टी के एक-एक कार्यकर्ता व पदाधिकारियों का मुझ पर भरोसा जताने के लिए कोटि-कोटि आभार प्रकट करता हूं, भरोसा दिलाता हूं कि आपके विश्वास पर हमेशा खरा उतरूंगा।”

रघुवर के लिए आसान नहीं होगी राह

गौरतलब है कि सीएम रघुवर दास 1995 से इस सीट से लगातार जीतते आ रहे हैं। लेकिन इस बार स्थिति अलग है। इस बार मुकाबला त्रिकोणीय होने की उम्मीद की जा रही है। इस सीट पर नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 18 नवंबर (सोमवार) तक है। रघुवर दास भले ही लगातार 5 बार से ये सीट जीतते आए हैं, लेकिन कांग्रेस के साथ खुद उनकी ही सरकार के एक मंत्री ने रघुवर दास के चुनौतियां बढ़ा दी हैं। कांग्रेस ने इस सीट से गौरव वल्लभ को तो टिकट दे ही दिया है। वहीं रघुवर दास के कैबिनेट सहयोगी सरयू राय ने भी उनके खिलाफ बगावत की घोषणा कर दी है और इसी सीट से उनके खिलाफ ताल ठोंकने का ऐलान कर दिया है। हालांकि, सरयू राय ने अभी तक पर्चा नहीं भरा है।

दो सीटों से चुनाव लड़ेंगे सरयू राय

वैसे तो सरयू राय जमशेदपुर पश्चिम से चुनाव लड़ते रहे हैं। 2014 में उन्होंने इसी सीट से जीत हासिल की थी। लेकिन राज्य में खाद्य और सप्लाई मंत्री रहते हुए सरयू राय लगातार रघुवर सरकार की आलोचना करते रहे हैं। इस बार बीजेपी ने झारखंड की ज्यादातर सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है, लेकिन सरयू राय के नाम का ऐलान अब तक नहीं हुआ है। इस बीच सरयू राय ने शनिवार को ये कहकर राज्य का सियासी पारा बढ़ा दिया था कि वे सीएम के खिलाफ ही चुनाव में उतरेंगे। जमशेदपुर में चुनाव 7 दिसंबर को है और नामांकन भरने की आखिरी तारीख 18 नवंबर है। सरयू राय ने जमशेपुर पूर्व और पश्चिम दोनों सीटों का नामांकन पत्र खरीदा है। ऐसे में अटकलें लगाई जा रही है कि वे जमशेपुर पूर्व से भी अपना पर्चा दाखिल कर सकते हैं।


झारखंड चुनाव : टिकट को लेकर कांग्रेस में विरोध के स्वर मुखर

झारखंड चुनाव: रांची में कांग्रेस ने बदली रणनीति, भाजपा से मुकाबले के लिए जेएमएम को किया आगे

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)