JU Election 2020 Result: जादवपुर यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव में वाम समर्थक छात्र संगठनों की बड़ी जीत, ABVP का ऐसा रहा प्रदर्शन

JU Election 2020 Result: जादवपुर यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव में वाम समर्थक छात्र संगठनों की बड़ी जीत, ABVP का ऐसा रहा प्रदर्शन

JU Election 2020 Result: जादवपुर विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव (Jadavpur University election result 2020) में वाम समर्थक छात्र संगठनों ने तीन में से दो संकायों में अपना कब्जा बरकरार रखा है। चुनाव के नतीजों की घोषणा गुरुवार को हुई। विश्वविद्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि एक अन्य संकाय में वोटों की गिनती हुई जहां तकनीकी कारण से मतगणना रोके जाने तक एसएफआई आगे चल रही थी। वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) भी अपनी पैठ जमाने में कामयाब रहा। एबीवीपी ने माकपा के छात्र संगठन स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआइ) को पीछे धकेलते हुए दूसरे स्थान पर कब्जा जमा लिया।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के छात्र संगठन ABVP ने जेयू के इतिहास में पहली बार कला व इंजीनियरिंग विभाग के सीपी, जीएस, एजीएस डे, एजीएस इवनिंग समेत सभी पदों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे। इंजीनियरिंग विभाग में कुल 1405 वोट पड़े, जिनमें से डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फ्रंट (डीएसएफ) को 1167 वोट मिले। एबीवीपी की झोली में 115 वोट आए, वहीं एसएफआइ को 70 वोट मिले यानी एसएफआइ को पीछे छोड़कर एबीवीपी ने दूसरा स्थान हासिल कर लिया। एसएफआइ तीसरे स्थान पर आ गया। वहीं, तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद को महज 29 वोट के साथ चौथे स्थान पर संतोष करना पड़ा। नोटा के लिए भी 22 वोट पड़े। डीएसएफ का पहले भी इस पर कब्जा था।


एक और वाम समर्थक छात्र संगठन ‘वी द इंटिपेंडेंट (डब्ल्यूटीआई) ने सेंट्रल पैनल की सभी चार सीटों पर कब्जा जमाते हुए विज्ञान संकाय में अपना नियंत्रण कायम रखा। हरेक सेंट्रल पैनल में अध्यक्ष का एक, महासचिव का एक तथा दो या तीन पद सहायक महासचिव के हैं। विज्ञान विभाग में डब्ल्यूयूटीआइ ने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एसएफआइ को हराया।

शॉर्ट्स में बाजार गई जादवपुर यूनिवर्सिटी की छात्रा को महिला ने मारे चांटे, बोली- तुम जैसी लड़कियों का रेप होना चाहिए

वहीं कला संकाय में मतों की गिनती कुछ तकनीकी कारणों से रोक दी गई और बाद में नतीजों की घोषणा की जाएगी। यहां पर भी एसएफआई आगे चल रही है। वामपंथी राजनीति का गढ़ माने जाने वाले विश्वविद्यालय में तीन साल बाद बुधवार को चुनाव हुआ था। विश्वविद्यालय के अधिकारी ने बताया कि डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) ने इंजीनियरिंग संकाय में केंद्रीय पैनल की पांचों सीटों पर जीत हासिल की।

बता दें कि ढाई वर्ष से लगातार छात्र आंदोलन के बाद बुधवार को जादवपुर विश्वविद्यालय में छात्रसंघ का चुनाव हुआ। विश्वविद्यालय के तीनों संकायों कला, विज्ञान और इंजीनियरिंग में चुनाव हुए। वर्ष 2016 में राज्य के शिक्षाविभाग की ओर से निर्देशिका जारी कर छात्रसंघ चुनाव बंद करा दिए गए थे। छात्र संघ का चुनाव होने के बावजूद जेयू परिसर में पिछले कुछ समय के दौरान हुई घटनाओं के कारण सबकी इसपर नजर थी। पिछले साल यहीं केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो का छात्रों ने घेराव किया था, जिन्हें छुड़ाने खुद बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को आना पड़ा था।



जादवपुर यूनिवर्सिटी में बाबुल सुप्रियो के साथ धक्का-मुक्की

बंगाल : जादवपुर यूनिवर्सिटी में राज्यपाल को देखने पड़े काले झंडे

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)