जामिया हिंसा: 15 दिसंबर का वीडियो आया सामने, लाइब्रेरी में पढ़ रहे छात्रों पर बेरहमी से लाठी बरसा रही दिल्ली पुलिस

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बीते साल 15 दिसंबर को दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों ने कैंपस से विरोध मार्च निकाला था। मार्च पर दिल्ली पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया था। 15 दिसंबर की शाम जामिया कैंपस घंटों तक दिल्ली पुलिस की बर्बरता का गवाह रहा था। आंसूगैस, लाईब्रेरी में बैठे छात्रों पर लाठीचार्ज की काफी सारी तस्वीरे सामने आईं थी। अब जामिया को-ऑर्डिनेशन कमेटी ने CCTV का एक वीडियो जारी किया है। ये सीसीटीवी फुटेज जामिया की ओल्ड लाइब्रेरी का है, जिसमें साफ नजर आ रहा है कि छात्र पढ़ाई कर रहे हैं। अचानक पुलिस अंदर घुसती है और लाइब्रेरी के अंदर पढ़ रहे छात्रों को बुरी तरह पीटने लगती है। इस घटना में बड़ी तादाद में छात्र घायल हुए थे।

गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों ने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन किया था। 15 दिसंबर की रात दिल्ली पुलिस जबरन जामिया कैंपस के अंदर घुसी और छात्रों को बेरहमी से पीटा। इस मामले में जामिया प्रशासन की ओर से पुलिस के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी। हालांकि मामले में अभी भी दिल्ली पुलिस जांच की बात कह रही है। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र विश्वविद्यालय प्रशासन से दिल्ली पुलिस के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)