अमित शाह पर बरसे फारूक अब्दुल्ला, कहा- ये वो भारत नहीं है, जिसमें मैं यकीन करता हूं

अमित शाह पर बरसे फारूक अब्दुल्ला, कहा- यह वह भारत नहीं है, जिसमें मैं यकीन करता हूं

अनुच्छेद 370 (Article 370) को हटाए जाने के फैसले के बाद जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) पहली बार मीडिया के सामने आए और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। अपने हाउस अरेस्ट की खबरों के बीच नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह पर भड़क उठे। साथ ही उन्होंने कहा कि धारा 370 (Article 370) पर मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।

धारा 370 खत्म होने से जम्मू-कश्मीर में क्या-क्या बदल जाएगा?


अपने आवास से पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कहा कि ये हमारी हत्या करना चाहते हैं। हम पत्थरबाज या ग्रेनेड फेंकने वाले नहीं हैं। हम शांति में विश्वास रखते हैं और हम शांति से अपनी लड़ाई लड़ेंगे। फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने यह भी कहा कि मैं अपनी मर्जी से घर में क्यों रहूंगा, जबकि मेरा राज्य जल रहा है। लोगों को जेल में डाला जा रहा है। यह वह भारत नहीं है, जिसमें मैं यकीन करता हूं।

लोकसभा में धारा 370 पर बोलते हुए अखिलेश ने सुनाई ‘बैंगन’ वाली कहानी, मांगा PoK पर जवाब

बता दें, एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले के एक सवाल के जवाब में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज लोकसभा में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) न तो हिरासत में हैं और न ही उन्हें गिरफ्तार किया गया है।


फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने आगे कहा कि मेरा बेटा उमर अब्दुल्ला जेल में है और बहुत पीड़ा में है। अब्दुल्ला ने कहा, ‘मुझे बहुत दुख होता है जब गृह मंत्री अमित शाह कहते हैं कि फारूक अब्दुल्ला हिरासत में नहीं हैं और वह अपनी मर्जी से अपने घर में हैं। मुझे उम्मीद नहीं थी कि गृहमंत्री अमित शाह झूठ बोलेंगे।’

अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कहा कि कश्मीर को विशेषाधिकार देने वाले आर्टिकल 370 (Article 370) और आर्टिकल 35ए भारत सरकार की ओर से गारंटी थे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे अपने घर में कैद कर दिया गया है। 70 साल से हम लड़ाई लड़ रहे हैं और आज हमें दोषी ठहरा दिया गया।

लोकसभा में बोले अमित शाह- जम्मू एवं कश्मीर के लिए हम जान दे देंगे

ज्ञात हो कि लोकसभा में आर्टिकल 370 (Article 370) को हटाने और जम्मू-कश्मीर व लद्दाख के रूप में दो केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने पर जमकर बहस हुई। इस दौरान एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने चर्चा के दौरान कहा, ‘मेरी बगल में फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) जी बैठते हैं और वो जम्मू-कश्मीर से चुनकर आए हैं। उनकी आवाज नहीं सुनाई दे रही है। यह चर्चा उनके बगैर हमेशा अधूरी रहेगी।’

अनुच्छेद 370 खत्म करने पर बोलीं महबूबा मुफ़्ती- भारतीय लोकतंत्र का काला दिन, कश्मीर के साथ हुआ धोखा

इसका जवाब देते हुए गृह मंत्री ने कहा, ‘फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) को न गिरफ्तार किया गया है और न हिरासत में लिया गया है, वह अपनी मर्जी से अपने घर पर हैं।’ इस पर सुले ने कहा, “क्या उनकी तबियत ठीक नहीं है?” इस पर शाह ने कहा, “मैं उनकी तबियत ठीक नहीं कर सकता। वो डॉक्टर का काम है।’

‘कनपट्टी पर गन रखकर नहीं ला सकते बाहर’

टीवी चैनलों पर फारूक अब्दुल्ला द्वारा खुद के नजरबंद बताए जाने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद शशि थरूर ने भी लोकसभा में इस मुद्दे को उठाया। गृहमंत्री शाह ने एक बार फिर कहा, ‘मैं तीन बार साफ कर चुका हूं, फिर से एक बार क्लियर करना चाहता हूं। फारूक अब्दुल्ला ना तो हिरासत में हैं ना नजरबंद हैं। अपने घर पर हैं। तबीयत भी अच्छी है। मौज मस्ती में हैं, आप मालूम कर लीजिए। उनको नहीं आना है तो हम गन कनपटी पर रखकर बाहर नहीं ला सकते हैं।’


धारा 370 हटने पर पहली बार बोले राहुल गांधी, कहा- देश लोगों से बना है, जमीन के टुकड़ों से नहीं

पूर्व CM उमर अब्दुल्ला ने धारा 370 हटने पर कहा- आगे की लड़ाई लंबी और कठिन, हम इसके लिए तैयार

अनुच्छेद 370 पर केंद्र सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगी शेहला राशिद 

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)