झाबुआ में सच्चाई की जीत, देश भाजपा से निराश : कमलनाथ

भोपाल, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)| मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने झाबुआ विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में कांग्रेस को मिली जीत को जनता को सच्चाई का मिला साथ बताया है। इसके साथ ही उन्होंने देश के अन्य हिस्सों से आए नतीजों को जनता में भाजपा को लेकर पनपी निराशा की लहर का असर बताया है। झाबुआ में कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया की जीत पर संवाददाताओं से बातचीत में कमलनाथ ने कहा, “झाबुआ की जनता ने सच्चाई का साथ दिया है। भाजपा के राज्य में पिछले 15 सालों तक जनता के साथ धोखा हुआ, उनकी उम्मीदें पूरी नहीं हुईं। इतना ही नहीं जनता ने यह भी पहचाना कि उनका भविष्य किस पार्टी के पास सुरक्षित है। झाबुआ के नतीजे बताते हैं कि जनता भाजपा से निराश है।”

झाबुआ के अलावा अन्य राज्यों महाराष्ट्र, हरियाणा के विधानसभा चुनाव और अन्य उपचुनाव के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए कमलनाथ ने कहा, “न केवल झाबुआ (मध्यप्रदेश) में, बल्कि पूरे देश में जनता के भीतर भाजपा को लेकर निराशा है। कुछ महीने पहले ही लोकसभा का चुनाव हुआ। उसकी तुलना में आज जो परिणाम आए हैं, वे यह स्पष्ट करते हैं कि देश के मतदाता यह अहसास करा रहे हैं कि वे भाजपा के राज-काज से निराश हैं।”


उन्होंने आगे कहा, “भाजपा ने लोगों की भावनाओं को उभार कर परिणामों को प्रभावित किया, लेकिन जनता यह मान चुकी है कि भाजपा राज में उनका भविष्य सुरक्षित नहीं है। विकास भी संभव नहीं है। आज देश के सामने प्रश्न नौजवानों के भविष्य का है, हमारी बदहाल हो चली अर्थव्यवस्था का है।”

उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा, “देश का ध्यान मोड़ने की चेष्टाएं भाजपा करती है, उसका पर्दाफाश झाबुआ, महाराष्ट्र और हरियाणा के चुनावों में हुआ है। कभी राष्ट्रवाद, कभी धारा 370, कभी पाकिस्तान की बात करके लोगों का ध्यान मूल मुद्दों से हटाने का प्रयास किया गया है। मोदी सरकार ने कभी नौजवानों के रोजगार की बात नहीं की, किसानों की बात नहीं की, व्यापारियों के हित के बारे में नहीं सोचा। यह बतलाता है कि वह विकास और लोगों के हित के बजाय उन मुद्दों पर बात कर रही है, जिसमें देश का भविष्य सुरक्षित नहीं है।”

देश की अर्थव्यवस्था की चर्चा करते हुए कमलनाथ ने कहा, “आज देश में मंदी का दौर है, लेकिन मध्यप्रदेश इससे अछूता है। मंदी का बहुत बड़ा कारण है कि लोगों की आशाएं इस सरकार से समाप्त हो गई हैं। मध्यप्रदेश में ऐसा नहीं है, इसलिए मंदी नहीं है, क्योंकि प्रदेश की जनता कांग्रेस की सरकार से निराश नहीं है। जबकि देश की जनता भाजपा की सरकार से पूरी तरह निराश हो चुकी है। आज देश का पूरा बैंकिंग सिस्टम ठप है। इन सब असफलताओं का अहसास देश की जनता को हो रहा है।”


हरियाणा के नतीजों पर अपनी राय जाहिर करते हुए कमलनाथ ने कहा, “हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनाने का पूरा प्रयास किया जाएगा। जनता ने वहां पर भाजपा को रिजेक्ट कर दिया है। उन्हें अपनी यह हार स्वीकार करनी चाहिए। नैतिकिता तो यह कहती है कि भाजपा को कुटिल चाल के जरिए सरकार बनाने का प्रयास भी नहीं करना चाहिए। उन्हें यह स्वीकारना चाहिए कि जनता ने हरियाणा में उन्हें रिजेक्ट कर दिया है। भाजपा जुगाड़ की राजनीति छोड़े।”

राज्य के विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए कमलनाथ ने कहा, “जनता को जो वचन दिया है, इसका जवाब हम जनता को देंगे भाजपा को नहीं। भाजपा ने 15 साल झूठ बोला और आज भी उसकी झूठ बोलने, गुमराह करने और भ्रम फैलाने की राजनीति खत्म नहीं हुई। भाजपा को सच्चाई बोलने की प्रैक्टिस करनी चाहिए।”

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like