झारखंड: अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में होटल दिलाने के नाम पर व्यवसायी से ठग लिए 19 लाख

झारखंड: अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में होटल दिलाने के नाम पर व्यवसायी से ठग लिए 19 लाख

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद अब कोई भी भारतीय, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में संपत्ति खरीद सकता है। मगर संपत्ति खरीदने के बजाए झारखंड के एक शख्स के साथ होटल दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी हो गई। रांची के लांड्री दुकान संचालक को जम्मू के कटरा स्थित वैष्णो देवी में होटल दिलाने के नाम पर 19 लाख की ठगी कर ली।

रांची के हरमू नंद नगर में रहने वाले उदय रजक की लांड्री की दुकान है। उसके दुकान पर जमशेदपुर निवासी रमण कुमार सिन्हा आकर बैठता था। दुकान में बैठकर धार्मिक बातें कर उन्हें झांसे में लिया। इसके बाद उन्हें जम्मू के कटरा स्थित वैष्णो देवी में एक होटल दिलाकर व्यवसाय करने की बात कही। रमण कुमार सिन्हा ने उदय रजक को बताया कि वह वैष्णो देवी स्थित होटल जगदंबा का मालिक है। जिसे 99 वर्ष के लिए लीज पर दे दूंगा। रमण की बातों में आकर उदय उसके साथ 17 फरवरी 2019 को जम्मू स्थित होटल कटरा गए। वहां होटल जगदंबा दिखाया जो उन्हें पसंद आ गया। होटल दिलाने के एवज में कई बार में 19 लाख रुपये ले लिए।


अचानक से किराये का मकान खाली कर चंपत हुआ रमण

इसके बाद बीते एक अक्टूबर को रमण कुमार अचानक अपना सारा सामान लेकर किराये का मकान छोड़कर चला गया। उसके नंबर पर संपर्क करने पर बंद मिला। इसके बाद दोबारा जम्मू जाकर होटल के बारे में पता लगाया, तो उसका मालिक रमण सिन्हा नहीं कोई और निकला। जिसके बाद उन्हें ठगी का एहसास हुआ। इसके बाद वापस रांची लौटने के बाद प्राथमिकी दर्ज कराई। साथ ही रमण का पता लगाने जमशेदपुर गए। वहां पड़ोस के लोगों से जानकारी मिली कि नौकरी दिलाने के नाम पर भी वह कई बेरोजगारों से ठगी कर चुका है। वहां घर में रमण सिन्हा नहीं रहता है। परिवार वालों ने उसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

पत्नी के बेच दिए गहने, कई से लिया कर्ज

उदय ने पुलिस को बताया है कि रमण सिन्हा के झांसे में आकर उसने 19 लाख देने के लिए पत्नी के सारे गहने बेच डाले कई सगे संबंधियों से कर्ज लिए। इसके अलावा अपने भाई बहनों के नाम पर बैंक से कर्ज भी लिए थे। इसके बाद सारे पैसे रमण सिन्हा को दे दिए। ठगी के बाद से उदय का परिवार परेशान हैं। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस से गुहार लगाई है।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)