खाद की बोरी से ‘चोरी’ 6 हजार रुपये लौटाना चाहती है भाजपा : अखिलेश

लखनऊ, 1 फरवरी (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को दो अलग-अलग ट्वीट कर केंद्र सरकार के अंतरिम बजट पर तंज कसा। उन्होंने कहा, “खाद की बोरी से पांच सालों में 5-5 किलो ‘चोरी’ कर जो निकाला है, भाजपा अब उसी को छह हजार रुपये बनाकर वापस करना चाहती है। अगले चुनाव में किसान बोरी की चोरी करने वाली भाजपा का बोरिया-बिस्तर बांध देगी।”

अखिलेश यादव ने अपने पहले ट्वीट में कहा, “एक साल के बजट में दस साल आगे की झूठ बात है। बहुसंख्यक भूमिहीन किसानों को इसमें कुछ भी राहत नहीं है। पांच सालों की प्रताड़ना और पीड़ा के बाद किसान, व्यापारी-कारोबारी, बेरोजगार युवा अब भाजपा से मुक्ति चाहते हैं, दिखावटी ऐलान नहीं।”


अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा, “केंद्र की भाजपा सरकार ने पिछले पांच सालों में 5-5 किलो करके खाद की बोरियों से जो निकाला है, चोरी की है, अब उसी को वो छह हजार रुपये बनाकर सालभर में वापस करना चाहती है। भाजपा ने दाम बढ़ाकर व वजन घटाकर दोहरी मार दी है। अगले चुनाव में किसान बोरी की चोरी करने वाली भाजपा का बोरिया-बिस्तर ही बांध देगी।”

 


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)