करतारपुर तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए 80 काउंटर बने

लाहौर, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)| पाकिस्तान सरकार ने भारत और दुनियाभर से आ रहे सिख तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए करतारपुर कॉरिडोर में 80 काउंटर लगाए हैं, ताकि पवित्र तीर्थस्थल व सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के अंतिम विश्राम स्थल के दर्शन में उन्हें किसी असुविधा का सामना न करना पड़े। रविवार को द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, आतंरिक मंत्रालय के अनुसार, निकासी प्रक्रिया को गति दिलाने और बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों को सुविधा प्रदान करने की दृष्टि से ये काउंटर्स स्थापित किए गए हैं।

यह सिख समुदाय के सबसे पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है, जहां श्रद्धालु पहले सिख गुरु के 550वीं जयंती को मनाने के लिए आ रहे हैं।


आप्रवासन विभाग हर रोज अधिकतम 5,000 तीर्थयात्रियों को संभालने का काम करेगी। संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) श्रद्धालुओं के आने से दस दिन पहले उनकी एक निकासी सूची भारतीय सीमा बल को भेजेगी।

भारत से आ रहे तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए अधिकारियों ने तीन प्रवेशद्वार बनाए हैं और वापस भारत लौटने वाले तीर्थयात्रियों को एक निश्चित गेट में से होकर गुजरना होगा।

उनके आगमन पर उनके पासपोर्ट्स को स्कैन किया जाएगा और इसके बाद उन्हें एक स्पेशल बस से गुरुद्वारा दरबार साहिब ले जाया जाएगा, जिसमें उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान रेंजर्स के दस्ते तैनात होंगे।


भारत और पाकिस्तानी दोनों ही देशों के श्रद्धालुओं को गुरुद्वारा दरबार साहिब के अंदर प्रवेश करने से पहले बायोमेट्रिक स्कैनिंग की प्रक्रिया में से होकर गुजरना पड़ेगा।

कॉरिडोर में इस संचालन सेवा का उद्घाटन 9 नवंबर को होने की संभावना है। आंतरिक मंत्रालय ने 169 निरीक्षकों, उप निरीक्षकों और महिला कॉन्सटेबल के अलावा दो सहायक निदेशक और एक उप निदेशक नियुक्त किया है।

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like