मुलायम सिंह यादव हैं करोड़ों के कर्जदार, फिर किसकी है महंगी ऑडी कार?

आपने सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव को हमेशा ऑडी और एसयूवी जैसी मंहगी गाड़ियों से चलते देखा होगा। चहरे पर कभी चिंता की कोई शिकन नहीं देखी होगी। लेकिन क्या आपको पता है सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव करोड़ों के कर्जदार हैं और इस बात की पुष्टि खुद मुलायम सिंह ने ही की है।

हलफनामे में दिखाया करोड़ों का कर्ज

सोमवार को मुलायम सिंह यादव ने अपनी परंपरागत लोकसभा सीट मैनपुरी से नामांकन दाखिल किया। अपने हलफनामे में दी गई जानकारी के मुताबिक मुलायम सिंह यादव अखिलेश यादव से दो करोड़ तेरह लाख अस्सी हजार रुपये का कर्ज लिए हुए हैं। हलफनामे के मुताबिक मुलायम सिंह के पास कुल 16.52 करोड़ रुपये की चल-अचल सम्पत्ति है। अचल सम्पत्ति के रूप में मुलायम सिंह के पास 1 करोड़ 36 लाख 65 हजार 853 रुपये हैं और उनकी पत्नी साधना यादव के पास 2 करोड़ 97 लाख 65 हजार 742 रुपये की अचल सम्पत्ति है। मुलायम द्वारा दाखिल किए गए शपथ पत्र में वित्तीय वर्ष 2017-18 में 32 लाख 02 हजार 615 रुपये की कुल आय दर्शायी गई है। पत्नी की भी आय 25 लाख 61 हजार 170 रुपये बताई गई है।


मुलायम सिंह यादव ने अपने हलफनामे में एक मुकदमे का भी जिक्र किया है। उन्होंने मजिस्ट्रेट को बताया है कि उनके खिलाफ आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने लखनऊ के हजरतगंज थाने मे दर्ज कराया था।

मुलायम की जमीन-जायदाद

मुलायम के पास 37 लाख 80 हजार रुपये की कृषि भूमि तथा 48 लाख 96 हजार रुपये के नायकपुरा करहल तथा मुचहरा इटावा में भी जमीन है। उनके पास 55 लाख 32 हजार, 9 लाख 24 हजार रुपये की भी नायकपुरा में जमीन है। नायकपुरा में ही उनके पास 24 लाख 24 हजार और सैफई में 29 लाख 04 हजार रुपये, मुचहरा में 12 लाख 98 हजार 531 रुपये की जमीन है। मुलायम को 37 लाख 80 हजार रुपये की जमीन विरासत में भी मिली है। फ्रेंडस कॉलोनी इटावा में उनका 22 लाख 50 हजार रुपये का एक प्लॉट भी है। इटावा के सिविल लाइन में 6 करोड़ 12 लाख 90 हजार 266 रुपये का एक मकान भी है। सैफई में भी 14 करोड़ 28 लाख 68 लाख 698 रुपये का मकान है।

अखिलेश यादव और  राम गोपाल यादव भी दिखे साथ

गौरतलब है कि मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को अपना नामांकन दाखिल किया। इस दौरान मुलायम के साथ चार प्रस्तावक मौजूद थे। नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद मुलायम ने साफ किया कि वह प्रधानमंत्री पद के दावेदार नहीं हैं। वह नामांकन कराने के लिए एक विशेष बस पर सवार होकर पहुंचे थे। इस दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के अलावा बीएसपी के कुछ नेता भी मौजूद थे। नामांकन से पहले मुलायम सिंह यादव से उनके भाई और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के अध्यक्ष शिवपाल यादव मिले थे। शिवपाल के जाने के बाद मुलायम अपने समर्थकों और प्रस्तावकों के साथ नामांकन दाखिल करने पहुंचे। मुलायम के नामांकन के दौरान सपा महासचिव राम गोपाल यादव और उनके बेटे अक्षय यादव भी मौजूद थे।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)