Uttar Pradesh: गोरखपुर में महुआ का पेड़ बना खूनी संघर्ष की वजह, दो लोगों की हत्या

  • Follow Newsd Hindi On  
Firing on RJD leader Gorakhpur referred in critical condition

गोरखपुर (Gorakhpur) में दो सगे भाइयों की आपसी रंजिश की वजह से हत्या कर दी गई। दरअसल पिछले कई महीनों से पोखरी गांव के राजेश दुबे और अरविंद दुबे के बीच संपत्ति का विवाद चल रहा था। रविवार को मौका पाकर अरविंद दुबे की पत्नी और बेटे की हत्या उसके सगे भाई राजेश दुबे और उसके साले ने मिलकर कर दी।

फिलहाल इस मामले में पुलिस (Police) ने मुख्य अभियुक्त सहित 8 लोगों की गिरफ्तारी की है। पुलिस ने अभियुक्तों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई भी शुरू कर दी है। इस खूनी संघर्ष में दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया है।


मीडिया में आ रही खबरों में बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों में ये विवाद एक महुआ के पेड़ को लेकर हुआ था। एक पक्ष का कहना था कि पेड़ उसकी जमीन में है, वहीं दूसरे पक्ष अपनी जमीन में पेड़ होने की बात कह रहा था। ये मामूली सा विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया और दो लोगों की हत्या कर दी गई।

महुआ का पेड़ काटने को लेकर दोनों पक्षों में आपसी विवाद शुरू हो गया। पहले अरविंद दुबे की पत्नी और उनके बेटे पर पहले लाठी और डंडे भांजे गए, उसके बाद फावड़े से वार कर दोनों को मौत के घाट उतार दिया गया। हत्या में फावड़े का भी इस्तेमाल हुआ है. पुलिस ने फावड़ा बरामद कर लिया है।

पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस वारदात में शामिल मुख्य आरोपी सहित 8 लोगों की गिरफ्तारी की गई है। अब पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस स्थानीय लोगों से भी पूछताछ करने में लगी है, ताकि इस वारदात के पीछे जुड़े पूरे सच का पता लगाया जा सकें।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)