मध्यप्रदेश में भी टिड्डियों को मारने भेजा ड्रोन

नई दिल्ली, 28 मई (आईएएनएस)। टिड्डियों का खात्मा करने के लिए राजस्थान के बाद अब मध्यप्रदेश में भी ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा। टिड्डियों को मारने के लिए अब तक दो ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा था, लेकिन गुरुवार की शाम से चार ड्रोन को काम में लगाया जाएगा। यह जानकारी गुरुवार को केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले फरीदाबाद स्थित वनस्पति संरक्षण, संगरोध एवं संग्रह निदेशालय के एक अधिकारी ने दी।

उन्होंने बताया कि राजस्थान के समोद गांव में बीते दिनों टिड्डी दल को मारने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया। यह गांव जयपुर के चैमू तहसील में आता है। बता दें कि गुलाबी शहर जयपुर पर काफी समय के बाद टिड्डियों ने धावा बोला था जिसका खात्मा करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया।


वनस्पति संरक्षण, संगरोध एवं संग्रह निदेशालय में पदस्थापित उपनिदेशक के.एल. गुर्जर ने आईएएनएस को बताया, “टिड्डियों को मारने के लिए इस समय दो ड्रोन का इस्तेमाल हो रहा है लेकिन आज(गुरूवार) शाम तक दो और ड्रोन को काम में लगाया जाएगा।”

उन्हांेने कहा कि अब तक राजस्थान में ड्रोन का इस्तेमाल टिड्डी नियंत्रण के लिए किया गया था लेकिन आज शाम तक मध्यप्रदेश में भी ड्रोन पहुंच जाएगा।

ड्रोन से केमिकल्स का छिड़काव किया जाता है। बता दें कि टिड्डी दल दिन में भ्रमण करते हैं जबकि रात में विश्राम करते हैं। गुर्जर ने बताया कि इस समय राजस्थान से मध्यप्रदेश की तरफ टिड्डी दलों का रूख बना हुआ है और इसे काबू करने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है।


–आईएएनएस

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)