कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव को भारत रत्न देने की मांग की

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव को भारत रत्न देने की मांग की

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को मरणोपरांत भारत रत्न देने की अपील की है। एक ट्वीट में तिवारी ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को औपचारिक रूप से एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को भारत रत्न देने का अनुरोध किया है। इसके साथ ही उन्होंने चंडीगढ़ हवाई अड्डे को भगत सिंह की याद में समर्पित करने की बात कही। उन्होंने तीनों शहीदों को ‘शहीद-ए-आजम’ के सम्मान से सम्मानित करने की भी मांग की।

एक तरफ गांधी की पूजा और दूसरी तरफ सावरकर को भारत रत्न….’हिपोक्रेसी’ की भी सीमा होती है

अपने पत्र में तिवारी ने कहा कि भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने 23 मार्च 1931 को अपने सर्वोच्च बलिदान के साथ निर्दयी ब्रिटिश साम्राज्यवाद के प्रतिरोध के साथ देशभक्तों की एक पूरी पीढ़ी को प्रेरित किया है।



उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया, “26 जनवरी 2020 को इन तीनों शहीदों को भारत रत्न दिया जाए।” उन्होंने कहा कि यह कदम 124 करोड़ भारतीयों के दिल और आत्मा को छू जाएगा।


कांग्रेस ने पूछा, सावरकर को भारत रत्न क्यों, गोडसे को क्यों नहीं?

कांग्रेस ने आंबेडकर को भारत रत्न नहीं दिया, उनका अपमान किया : मोदी

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)