10 गुना तक बढ़ सकती है मोबाइल डेटा कीमतें, टेलीकॉम कंपनियों ने फ्लोर रेट बढ़ाने की सिफारिश की

10 गुना तक बढ़ सकती है मोबाइल डेटा कीमतें, टेलीकॉम कंपनियों ने फ्लोर रेट बढ़ाने की सिफारिश की

भारत की सभी बड़ी टेलीकॉम कंपनियों ने अपने मोबाइल डेटा की कीमतें बढ़ाने की सिफारिश की है। कंंपनियों ने टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (TRAI) से फ्लोर रेट बढ़ाने मांग की हैं। इस समय वोडाफोन-आइडिया(Idea-Vodafone) भारी कर्ज में भी डूबी हुई है। इसी के चलते कंपनियों ने एक जीबी डेटा 35 रुपये प्रति करने की मांग की है। वहीं, एयरटेल(Airtel)30 रुपये और जियो (Jio, Reliance)ने 20 रुपये प्रति डेटा कीमत करने के लिए कहा है। 

हालांकि भारत में दुनियाभर से सबसे सस्ता डेटा में मिलता है जो लगभग ग्राहक को 19 रुपये प्रति जीबी की औसत से पड़ता है। जबकि अन्य में देशों में इसकी कीमत 650 रुपये है। ट्राई अगर भारतीय टेलीकॉम कंपनियों की मांग मान लेता है तो अभी के डेटा कीमत से 10 की बढ़ोतरी हो जाएगी। 


खबरों के मुताबिक, मोबाइल डेटा कीमतों में इसलिए भी बढ़ोतरी होने की संभावना है क्योंकि नीति आयोग के मुखिया अमिताभ कांत ने फ्लोर रेट तय करने की मांग की है। उनका कहना है कि भारत का टेलीकॉम सेक्टर कर्ज में डूबता जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसा करने से दिक्कतें दूर तो नहीं होंगी, लेकिन फ्लोर रेट तय ना होने के चलते कंपनियां डाटा कीमतें खुद तय करती है और मार्केट में बने रहने के लिए सस्ती दर पर  मोबाइल डेटा देना पड़ता है। 

गौरतलब है कि पिछले साल ही भारत की कई टेलीकॉम कंपनियों ने अपने डेटा प्लान की कीमतों को बढ़ाया था। जिसके बाद से कई यूजर्स को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में अब दोबारा ग्राहक को महंगी दर से डेटा खरीदने के लिए तैयार होना जाना चाहिए।

भारत की सभी टेलीकॉम कंपनियों ने टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया(TRAI) से मोबाइल डेटा प्लान के प्लोर रेट को बढ़ाने की सिफारिश की है। ऐसे में अगर इनकी मांग मान ली जाती है तो किमतों में 10 गुना की बढ़ोतरी हो जाएगी।



Airtel के इस प्लान के साथ मिलेगा 4 लाख का इंश्योरेंस कवर

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)