मोदी का मकसद संविधान को बर्बाद करना है : राहुल

विजयवाड़ा, 31 मार्च (आईएएनएस)| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अंतिम लक्ष्य भारत के संविधान को बर्बाद करना है, लेकिन उन्होंने कहा कि वह ऐसा कभी नहीं करने देंगे।

यहां से पार्टी के चुनाव प्रचार की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा कि ‘भारत को बांटों व भारत से चोरी करो’ मोदी की राजनीति है।


उन्होंने कहा कि दलितों व अल्पसंख्यकों पर देश भर में हमले हो रहे हैं व उन्हें डराया-धमकाया जा रहा है।

उन्होंने एक रैली में कहा, “लोगों की हत्याएं व महिलाओं से दुष्कर्म हो रहा है। डर का माहौल है। यह नरेंद्र मोदी की राजनीति है। भारत का बंटवारा करो व भारत से चोरी करो।”

राहुल गांधी ने कहा, “हर कोई जानता है कि मोदी का आखिरी लक्ष्य भारत के संविधान को तबाह करना है। हम ऐसा करने की इजाजत कभी नहीं देंगे। दलितों, अल्पसंख्यकों, आदिवासियों, किसानों, कमजोर तबकों सभी को देश में शांति के साथ रहने का अधिकार है। देश किसी एक व्यक्ति या एक संगठन की निजी संपत्ति नहीं है।”


कांग्रेस अध्यक्ष ने वादा किया अगर आंध्र प्रदेश में सत्ता हासिल हुई तो कांग्रेस दो दिनों में कृषि ऋण माफ कर देगी, जैसा कि हाल ही में कांग्रेस ने छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश व राजस्थान में सत्ता में आने पर किया।

उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस केंद्र में सत्ता में आई तो आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का काम कांग्रेस के सबसे पहले किए जाने वाले कार्यो की सूची में शामिल होगा।

राहुल गांधी ने प्रत्यक्ष तौर पर तेलुगू देशम पार्टी (पार्टी) पर हमला नहीं किया। कांग्रेस पार्टी अगले महीने होने वाले विधानसभा व लोकसभा चुनावों में अकेले ही चुनाव लड़ रही है। उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश की पार्टियां मोदी पर राज्य को विशेष दर्जा देने के लिए आक्रमक नहीं रही।

राहुल गांधी ने कहा कि पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकारों ने 14 करोड़ से ज्यादा लोगों को गरीबी से बाहर निकालने का कार्य किया और मनरेगा जैसी योजनाओं से लाखों लोगों को रोजगार दिया।

उन्होंने कहा, “हमने देश को खाद्य सुरक्षा का अधिकार दिया, स्कूलों में हमारे बच्चों को खाना दिया, हमने किसानों, जनजातियों व दलितों की जमीनों की रक्षा के लिए नए कानून बनाए।”

उन्होंने कहा कि 2014 में सत्ता में आने के बाद मोदी ने सभी चीजों को खत्म कर दिया।

राहुल गांधी ने कहा, “वह इतने ही पर नहीं रुके। उन्होंने नोटबंदी की, जिससे छोटे व मध्यम व्यापारियों, गरीबों व किसानों की मुश्किलें बढ़ी। इसके बाद वह जीएसटी लाए, जिससे छोटे व मध्यम दुकानदारों के लिए जटिलताएं पैदा हुईं।”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस गरीबी के खिलाफ लड़ाई की घोषणा करती है।

कांग्रेस के घोषणा पत्र में न्यूनतम आय योजना (न्याय) का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, “कांग्रेस गरीबी के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक करेगी। हम भारत के लोगों को ‘न्याय’ देंगे। यह गरीबी के खिलाफ हमारा गैर-हिंसक हथियार है।”

उन्होंने कहा कि 12,000 से कम की मासिक कमाई वाले 20 फीसदी सबसे गरीब लोगों की जाएगी और हर साल उनके बैंक खातों में 72,000 रुपये दिए जाएंगे।

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)